झारखंड पुलिस ने रंगदारी व हत्या के मामले में छपरा से तीन लोगों को हिरासत में लिया

इस समाचार को शेयर करें

छपरा : नगर तथा मुफस्सिल थाना क्षेत्र के अलग-अलग स्थानों पर झारखंड राज्य के चतरा जिले की एसआइटी की टीम ने स्थानीय पुलिस के सहयोग से शुक्रवार को छापेमारी की और तीन लोगों को हिरासत में लिया, जिनसे पूछताछ की जा रही है। 27 दिसंबर को 50 लाख की रंगदारी नहीं मिलने पर चतरा में कोयला खनन करने वाली कंपनी के एक मैनेजर की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी और एक कर्मचारी को घायल कर दिया गया था। इस मामले में झारखंड पुलिस तीसरी बार जिले के कई स्थानों पर छापेमारी की । तीन दिनों पहले मांझी तथा दाउदपुर से आधा दर्जन संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर झारखंड पुलिस ने पूछताछ की थी। इसके पहले जनवरी माह के प्रथम सप्ताह में झारखंड पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया था, जिनके विरुद्ध नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। उन दोनों व्यक्तियों पर आरोप है कि फर्जी आईडी कार्ड के आधार पर सिम कार्ड अपराधियों को उपलब्ध कराया गया था, जिसमें एक सेल्यूलर कंपनी के रिटेलर तथा दूसरा डिस्ट्रीब्यूटर शामिल है। वह दोनों व्यक्ति फिलहाल छपरा जेल में बंद हैं। झारखंड पुलिस उन्हें भी रिमांड पर ले सकती है। एसआईटी की टीम का नेतृत्व डीएसपी स्तर के पदाधिकारी कर रहे हैं। फिलहाल झारखंड पुलिस इस मामले में कुछ भी बताने से इंकार कर रही है। जानकारी के अनुसार दिसंबर माह में कोयला खनन का काम करने वाले कंपनी 50 लाख की रंगदारी मांगी गई थी। रंगदारी नहीं मिलने के कारण 27 दिसंबर को कंपनी के मैनेजर की गोली मारकर हत्या कर दी गयी तथा एक कर्मचारी को घायल कर दिया गया । इस मामले में एक गैंगस्टर को भी गिरफ्तार कर चतरा पुलिस जेल भेज चुकी है, जिसके मोबाइल के कॉल डिटेल्स के आधार पर उस गिरोह से जुड़े अपराधियों को गिरफ्तार करने के लिए यहां छापेमारी की जा रही है और संदिग्ध व्यक्तियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। खनन कंपनी से रंगदारी की वसूली करने के मामले में सारण जिले के मांझी, दाउदपुर, सोनपुर तथा पटना जिले के बिहटा और भोजपुर जिले के कोईलवर के अपराधी इस मामले में संलिप्त पाये गये हैं। रंगदारी नहीं मिलने पर हत्या करने वाला गैंगेस्टर का तार इस जिले से जुड़ा हुआ है। एसआइटी को यह सूचना है कि रंगदारी की वसूली में हिस्सेदारी लेने वाले इस जिले के भी अपराधी हैं और रंगदारी वसूलने वाले गिरोह के सरगना इस जिले के विभिन्न स्थानों पर आकर पनाह लेता था। इसी के आधार पर जांच में छापेमारी की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!