जेपी विवि के कुलपति को दी गयी विदाई- वीसी बोले- सकारात्मक सोंच से ही मिलती है सफलता

इस समाचार को शेयर करें

छपरा। सकारात्मक सोंच से ही सफलता मिलती है। जीवन में हमेशा सकारत्मक सोच रखनी चाहिए। अपने विरोधियों के लिए भी मन में हमेशा स्नेह और सम्मान का भाव रखने से कभी निराशा नही होती है।  उपरोक्त बातें  जेपीविवि के  कुलपति प्रो. हरिकेश सिंह ने कही। वे शुक्रवार को विश्वविद्यालय के शिक्षक व कर्मियों द्वारा आयोजित भावांजलि कार्यक्रम में अपनी बात रख रहे थें।  कुलपति ने अपने विदाई समारोह में कहा कि वे अपने कार्यकाल में विवि को एक विश्वविद्यालय का आकार देने का बहुत प्रयास किया। जिसमें मुझे बहुत ज्यादा सफलता तो नहीं मिली। लेकिन वह आकार लेने की प्रक्रिया में आगे बढ़ गया है। कुलपति ने कहा कि प्राचार्य, शिक्षक, कर्मचारी समेत एवं सम्मानित लोगों का सहयोग मिल जिसके लिए वे उन्हें बधाई दे रहे  हैं। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय के लंबित कई कार्य को पूरी ईमानदारी के साथ पूरा किया। जिसमें विद्यार्थियों की कई सत्रों की परीक्षा से लेकर शिक्षकों का वषोंं से लंबित प्रमोशन को दिया गया।  अपने भावांजलि कार्यक्रम में कुलपति  संबोधन के दौरान कई बार भावुक भी हो उठे। कुलपति ने कहा कि वे जयप्रकाश विश्वविद्यालय के किसी भी प्राचार्य, शिक्षक एवं कर्मचारियों का अहित कागज पर नहीं किया है। जेपीूय के शिक्षकों ने कुलपति को अंगवस्त्र देकर सम्मानित भी किया। इस दौरान कई प्राध्यापक इतने भावुक हो गये कि वे उनकी आंखें छलछला गई। जिसे देखकर सीनेट हॉल में उपस्थित सभी लोग भावुक हो गये। जयप्रकाश विश्वविद्याय अतिथि शिक्षक संघ के पदाधिकारी डॉ. धमेंद्र कुमार सिंह एवं हरिमोहन कुमार पिंटू ने कुलपति को पुष्प गुच्छ देकर सम्मानित किया।

 भावांजलि कार्यक्रम का संचालन पीजी अर्थशास्त्र विभाग के प्राध्यापक डॉ. अजीत कुमार तिवारी एवं धन्यवाद ज्ञापन कुलसचिव ग्रुप कैप्टन(से.नि.) श्रीकृष्ण ने किया। इस मौके पर प्रतिकुलपति प्रो. अशोक कुमार झा, डॉ. राकेश प्रसाद, डॉ. लक्ष्मण सिंह, डॉ नबी अहमद, डॉ. शंकर साह, डॉ. अनिल कुमार सिंह समेत विवि  अन्य शिक्षक एवं कर्मचारी उपस्थित थेंं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!