छपरा में उर्दू भाषी छात्र प्रोत्साहन योजना के तहत 24 छात्र-छात्राओं को किया गया सम्मानित

Spread the love

छपरा । प्रोत्साहन आपको और आगे बढ़ने को प्रेरित करता है । इससे हौसला बढ़ता है तथा हम पहले से भी बड़ी सफलता पाने के लिए अग्रसर होते हैं । उक्त बातें डीआरडीए के निदेशक सुनील कुमार पांडेय ने जिला स्तर पर आयोजित उर्दू भाषी छात्र प्रोत्साहन योजना के चयनित छात्र-छात्राओं को बुधवार को पुरस्कृत करते हुए कहीं। मौके पर मौजूद जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी सह जिला उर्दू भाषा कोषांग प्रभारी उपेंद्र कुमार यादव ने बताया कि मंत्रिमंडल सचिवालय के उर्दू निदेशालय के तत्वावधान में उर्दू भाषी विद्यार्थी प्रोत्साहन राज्य योजना के तहत मैट्रिक, इंटर और स्नातक स्तर पर क्रमशः शिक्षा का महत्व, उर्दू भाषा का महत्व और उर्दू गजल की लोकप्रियता के विषय पर वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन विगत आठ जनवरी को डीआरडीए सभागार में किया गया था । प्रतियोगिता में विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों से चुने हुए कुल 46 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया । पांच पैनल सदस्यों की उपस्थिति में प्रत्येक वर्ग में एक प्रथम, तीन द्वितीय और चार तृतीय छात्र को चयनित किया गया । मैट्रिक के प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले को 31 सौ, द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले तीन छात्रों को 21 सौ और तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले चार छात्रों को 11 सौ रुपए नगद प्रदान किया गया । इंटर के प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले को 41 सौ, द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले तीन छात्रों को 31 सौ और तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले चार छात्रों को 21 सौ रुपए नगद प्रदान किया गया । जबकि स्नातक के प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले को 51 सौ, द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले तीन छात्रों को 41 सौ और तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले चार छात्रों को 31 सौ रुपए नगद प्रदान किया गया। कुल 65 हजार चार सौ रुपये के नकद पुरस्कार के साथ ही छात्र-छात्राओं को मेडल और प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर मैट्रिक स्तर पर मोनाजिर हुसैन को प्रथम आसिया नईम, जैनब फै‍याज, और मेहर अली को द्वितीय तथा नाजिया परवीन, मो अदनान, अनीसा खातून और परवीन बानो को तृतीय पुरस्कार प्रदान किया गया. इंटर स्तर पर मो सज्जाद आलम को प्रथम, रानी परवीन, हिना खातून और सोहराब खान को द्वितीय, रेहाना परवीन, मुस्कान खातून, खुर्शीद आलम और शमा परवीन को तृतीय पुरस्कार प्रदान किया गया जबकि स्नातक स्तर पर शारिक शमीम को प्रथम, मो शहाबुद्दीन, नूर आलम और जाविया हेलाल को द्वितीय तथा शाहीन परवीन, सुजैन फातिमा, मो कासिफ और मो दिलावर हुसैन को तृतीय पुरस्कार प्रदान किया गया. कार्यक्रम संयोजन में कोषांग के मो रे‍याज अंसारी, मो शमीम अंसारी, अब्दुल जब्बार, अख्तर इकबाल आदि ने सहयोग किया ।

Ganpat Aryan

Web Media Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!