छपरा जंक्शन पर बने अंडर वेहीकल्स सर्विलांस सिस्टम अब RPF के जिम्मे, मिलेगी हाईटेक सुरक्षा

Spread the love

छपरा । पूर्वोत्तर रेलवे के छपरा जंक्शन पर नव निर्मित अंडर वेहीकल्स सर्विलांस सिस्टम को रविवार को रेलवे सुरक्षा बल को सुपुर्द कर दिया गया । यात्रियों को बेहतर सुरक्षा उपलब्ध कराने के लिए यहां हाइटेक सुरक्षा व्यवस्था किया जा रहा है । इसी के तहत लगाये गये इंटिग्रेटेड प्रोटेक्शन सिस्टम को पूर्ण रूप से रेलवे सुरक्षा बल को हस्तांतरित किया गया । सुरक्षा के लिए लगाये गये इंटिग्रेटेड प्रोटेक्शन सिस्टम के क्लोज सर्किट टीवी कैमरा (सीसीटीवी) तथा उसके कंट्रोल रूम भी आरपीएफ को सौंपा गया । इसके पहले यहां फ्रेम डोर मेटल डिटेक्टर, हैंड हेल्ड मेटल डिटेक्टर, लगेज स्कैनर सिस्टम आरपीएफ को सौंपा जा चुका है और छपरा जंक्शन को फूल प्रुफ सुरक्षा व्यवस्था से सुसज्जित किया जा रहा है ।

कमांडेंट की सख्ती के बाद आयी तेजी

करीब एक वर्ष पहले ही छपरा जंक्शन पर सीसीटीवी कैमरा लग गया था, लेकिन इससे जुड़े अन्य सुरक्षा उपकरणों को स्थापित नहीं किया गया था जिसके कारण यहां इसका इस्तेमाल नहीं किया जा रहा था । सीसीटीवी कैमरा के फूटेज की आवश्यकता पिछले माह 2 नवम्बर को महसूस किया गया, जब रेलवे सुरक्षा बल पोस्ट पर किशोरी के साथ आरपीएफ के जवान ने रेप कर दिया था और इसकी जांच करने के लिए रेलवे सुरक्षा बल के वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त ऋषि पांडेय इसकी जांच करने के लिए पहुंचे थे । उस समय यह बात सामने आयी कि सीसीटीवी कैमरा काम तो, कर रहा है, लेकिन उसका बैक अप 24 घंटे तक का ही है और इस वजह से उस घटना का फूटेज नहीं मिल पाया । उसी समय वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त ने इंटिग्रेटेड प्रोटेक्शन सिस्टम को शीघ्र पूरा करने का निर्देश दिया गया ।

आरपीएफ जवानों का प्रशिक्षण शुरू

इंटिग्रेटेड प्रोटेक्शन सिस्टम को बेहतर ढंग से कार्यान्वयन के लिए रेलवे सुरक्षा बल के जवानों को प्रशिक्षण देने की प्रक्रिया शुरू कर दिया गया है । इसके तहत मुख्य रूप से सीसीटीवी कैमरा के संचालन और अंडर वेहीकल्स सर्विलांस सिस्टम को संचालित करना शामिल है । इस सिस्टम के चालू हो जाने से न केवल यात्रियों की सुरक्षा को बेहतर बनाया जा सकेगा, बल्कि रेल संपत्ति की सुरक्षा को पुख्ता किया जायेगा । अपराधियों को पकड़ने तथा अपराध की घटना होने से रोका जा सकेगा । अपराध की घटना होने पर उद्दभेदन करना आसान हो जायेगा । अपराधियों की पहचान करने तथा अपराध की घटनाओं में संलिप्तता को प्रमाणित करने भी इस सिस्टम की महत्वपूर्ण भूमिका होगी ।

क्या कहते हैं अधिकारी

छपरा जंक्शन पर इंटिग्रेटेड प्रोटेक्शन सिस्टम आरपीएफ को हैंड ओवर हो गया है और इसके बेहतर ढंग से कार्यान्वयन के लिए रेलवे सुरक्षा बल के जवानों को प्रशिक्षण देने की प्रक्रिया शुरू किया गया । नये वर्ष में यह सिस्टम काम करने लगेगा ।

ऋषि पांडेय
वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त
रेलवे सुरक्षा बल
वाराणसी मंडल, पूर्वोत्तर रेलवे

Ganpat Aryan

Web Media Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!