छपरा में 57 मवेशियों से लदे ट्रक के साथ 3 तस्कर गिरफ्तार

Spread the love

छपरा । शहर के भगवान बाजार थाना क्षेत्र के श्यामचक मोड़ के पास 57 मवेशियों से लदे एक ट्रक को पुलिस ने शनिवार की रात को जब्त कर लिया तथा इस मामले में पुलिस ने चालक समेत तीन तस्करों को गिरफ्तार किया है, जिनसे पूछ-ताछ की जा रही है । इस मामले में अवर प्रमंडल पशु चिकित्सा पदाधिकारी अमरेंद्र कुमार के बयान पर नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुलिस ने जीवित पाए गए मवेशियों को सारण पिंजरा पोल गौशाला समिति को सौंप दिया है । जबकि मृत पाए गए 6 मवेशियों को पोस्टमार्टम कराने के बाद पशुपालन विभाग द्वारा डिस्पोजल कर दिया गया। बताया जाता है कि छह चक्का वाले ट्रक पर मवेशियों को लादकर चारों तरफ से तिरपाल से ढक कर ले जाया जा रहा था। श्यामचक मोड़ के पास लोगों को आशंका हुई तो, ट्रक को रोक लिया और इसकी सूचना पुलिस को दी। साथ में पशुपालन विभाग के अधिकारियों को भी इसको जानकारी दी गई । इस सूचना के आलोक में पशुपालन विभाग के चिकित्सा पदाधिकारी तथा भगवान बाजार थाना की पुलिस ने संयुक्त रूप से कार्रवाई की । इस दौरान ट्रक को जब्त कर लिया गया और मवेशियों को बरामद किया गया । इस मामले में गिरफ्तार चालक उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के इन चोली थाना क्षेत्र के लावर गांव निवासी कमालुद्दीन के पुत्र मोहम्मद रईसुद्दीन बताया जाता है। जबकि ट्रक में बैठे दो अन्य व्यक्तियों में हरियाणा राज्य के फरीदाबाद जिले के अनकेर थाना क्षेत्र के भटकल गांव निवासी कलुआ के पुत्र साकिर एवं जमील खान के पुत्र जावेद खान शामिल है ।

मेरठ से किशनगंज ले जा रहे थे मवेशियों को तस्कर

छपरा में नागरिकों के सहयोग से पुलिस द्वारा बरामद मवेशियों को तस्करों के द्वारा उत्तर प्रदेश के मेरठ तथा हरियाणा से किशनगंज ले जाया जा रहा था। ऐसी आशंका है कि मवेशियों को तस्करों के द्वारा नेपाल के रास्ते बांग्लादेश पहुंचाने की योजना थी । बिहार व उत्तर प्रदेश की सीमा पर अवस्थित सारण जिले से होकर अंतरराष्ट्रीय पशु तस्कर गिरोह के द्वारा पशुओं की तस्करी लगातार की जा रही है । प्रत्येक सप्ताह पशु तस्करों को सारण पुलिस के द्वारा गिरफ्तार किया जा रहा है। पशु तस्करों को पकड़ने के बाद कई स्थानों पर हंगामा व बवाल भी हुआ है । बावजूद इसके तस्करों की सक्रियता में कोई कमी नहीं आई है। पशुपालन विभाग के अवर प्रमंडल पशु चिकित्सा पदाधिकारी डॉ अमरेंद्र कुमार ने बताया कि मवेशियों की धुलाई के संबंध में ट्रक चालक तथा तस्करों के पास कोई भी वांछित कागजात नहीं था।

चिकित्सक के बयान पर दर्ज हुई प्राथमिकी

तस्करी कर ले जाए जा रहे मवेशियों की बरामदगी के मामले में अवर प्रमंडल पशु चिकित्सा पदाधिकारी डॉ अमरेंद्र कुमार के बयान पर भगवान बाजार थाने में ट्रक चालक समेत 3 लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई है। जिसमें आरोप है कि मवेशियों को बेहोशी की दवा देकर ट्रक में लादा गया था। सभी मवेशियों के आंख से आंसू बह रहे थे व लड़खड़ा कर चल रहे थे। सभी मवेशियों के मुंह से झाग भी निकल रहा था। त्रिपाल हटाए जाने के बाद दवा की बदबू आ रही थी। सभी मवेशियों की उम्र लगभग 2 वर्ष होने का अनुमान है। ट्रक पर कुल 57 मवेशी लदे थे जिसमें से छह की मौत हो गई थी। 51 को जिंदा पाया गया। मृत पाए गए मवेशियों का पोस्टमार्टम पशु चिकित्सा पदाधिकारी के द्वारा कराने के बाद शव को डिस्पोजल कर दिया गया।

क्या कहते हैं थानाध्यक्ष

पशु तस्करी के मामले में चालक समेत तीन के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई है । ट्रक को जब्त कर लिया गया है । बरामद मवेशियों को सारण पिंजरा पोल गौशाला समिति को सौंप दिया गया है । मृत पाए गए मवेशियों को पशुपालन विभाग से पोस्टमार्टम करा कर निष्पादन कर दिया गया । गिरफ्तार चालक समेत तीनों तस्करों को सोमवार को जेल भेजा जाएगा।

देव कुमार
थानाध्यक्ष, भगवान बाजार, छपरा

Ganpat Aryan

Web Media Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!