eBikeGo ने जोमैटो के साथ की साझेदारी, मिलकर करेंगे पर्यावरण की सुरक्षा

Spread the love

पर्यावरणीय रूप से जागरूक जीवन की ओर अग्रसर होने की आवश्यकता को समझते हुए भारत की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक टू व्हीलर कंपनी eBikeGo ने रेंटल/डिलीवरी की डोर-टू-डोर सेवा को पहली बार उपलब्ध कराया है। प्रदूषित दुनिया को राहत पहुंचाने के विचार से eBikeGo ने भारत के सबसे बड़े ऑनलाइन फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म जोमैटो के साथ हाथ मिलाया है।

दुनिया अविश्वसनीय रूप से गंभीर पर्यावरणीय परिवर्तनों का सामना कर रही है, इस हरितक्रांति उद्यम का मुख्य उद्देश्य बहुत सस्ती स्तर पर परिवहन को पर्यावरण के अनुकूल साधन प्रदान करना है। इस नई हरित यात्रा से न केवल पर्यावरण में योगदान की उम्मीद है, बल्कि इसने बहुत से बेरोजगारों के लिए भी दरवाजे खोल दिए हैं, जो ऑनलाइन फूड एप्लीकेशन के साथ डिलीवरी एक्जीक्यूटिव के रूप में शामिल होना चाहते हैं, लेकिन मोटरसाइकिल का खर्च उठाने में सक्षम नहीं हैं या फिर ईंधन की कीमत में बढ़ोतरी के साथ परेशान हैं।

ये भी पढ़ेंः पॉपअप सेल्फी कैमरे के साथ Realme X और Realme X Lite हुए लॉन्च, कीमत 15,400!

डॉ इरफान खान, eBikeGo के फाउंडर ने बताया कि,“हम जोमैटो के साथ हाथ मिलाकर बहुत खुश हैं, भारत की सबसे बड़ी फ़ूड डिलिवरिंग कंपनी अपने पेट्रोल टू व्हीलर को इलेक्ट्रॉनिक टू व्हीलर में परिवर्तित कर रही हैं, जिससे की प्रदूषण को भी कम किया जा सकता हैं और हम प्रतिदिन केवल 100 रुपये में इलेक्ट्रिक स्कूटर प्रदान करके बहुत सारे बेरोजगारों को भी रोजगार भी दे सकते हैं। हम हर शहर में अपने ऑपरेशन शुरू करने की भी योजना बना रहे हैं, जिसमें र्वउंजव को भोजन देने के लिए एक ईको फ्रेंडली समाधान प्रदान किये जा चुके है।“

यह माना जा रहा है कि पावर-असिस्टेड बाइक पर खाद्य वितरण पर्यावरणीय क्षति को कम करने और कई लोगों के लिए अतिरिक्त और सस्ती रोजगार के अवसरों को पैदा करने में मदद करेगा, और मठपामळव इलेक्ट्रिक टू व्हीलर को किराये पर दिया जा रहा है जिसे 2-3 घंटे तक लगातार इलेक्ट्रॉनिक चार्ज करने के बाद इससे 55 किमी/घंटा की गति से 90 किलोमीटर तक चलाया जा सकता हैं।

अमृतसर से शुरू होने के बाद और बहुत कम समय के भीतर, eBikeGo आज दिल्ली, जयपुर, लुधियाना और आगरा जैसे शहरों में सफलतापूर्वक चल रही है, जो देश भर में फैले 100 शहरों में एक लाख बाइक का बेड़ा लाने का दावा कर रही है, कंपनी वर्तमान में देश की राजधानी में संचालित करने के लिए ओकिनावा रिज प्लस इलेक्ट्रिक स्कूटर का उपयोग करती है। हालांकि, यह इलेक्ट्रिक स्कूटर का उपयोग करने की योजना बना रहे है जो घर में निर्मित किये जाएंगे।

eBikeGo से दूसरे दोपहियों की तुलना की जाये तो, उनमें दैनिक किराये के अलावा, अधिकांश पैसा पेट्रोल पर खर्च होता है। जबकि इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों के मामले में, उपयोगकर्ता को प्रति दिन केवल 100 रुपये की किराये की राशि का भुगतान करना होगा। इन सेवाओं के साथ, eBikeGo यात्रियों, छात्रों, काम करने वाले अधिकारियों और अधिक वितरण श्रृंखलाओं को टारगेट कर रही है। eBikeGo की योजना आने वाले समय में भारत के प्रत्येक मेट्रो शहर में न्यूनतम 10,000 इलेक्ट्रिक बाइक रखने की है।

Ganpat Aryan

Ganpat Aryan

Multimedia Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!