छात्र विरोधी सरकार को बदलने का युवाओं ने किया ऐलान, नौजवानों जत्था पहुंचा छपरा

Spread the love
छपरा । अररिया से निकली नौजवानों की राज्य व्यापी यात्रा जत्था : संवाद, समता और दोस्ती की ओर रविवार को छपरा पहुंची । इस मौके पर आल इंडिया स्टूडेंट फेडरेशन एवं बिहार आंबेडकर स्टूडेंट फोरम के सदस्यों ने जत्था का स्वागत किया। नगरपालिका  चौक पर नुक्कड़ सभा का आयोजन किया गया । बिहार आंबेडकर स्टूडेंट फोरम के प्रमोद कुमार ने कहा कि जाति -धर्म में बांटने वाले, मजदूर, किसान, छात्र – नौजवानों को दरकिनार करने वाली निकम्मी सरकार को इस बार चुनाव में हटाना होगा । युवाओं के ज्वलंत मुद्दों, अपेक्षाओं, और मांगो पर यात्रा के दौरान चर्चा की गयी । संवाद से उभरी मांगो का पत्र 10 मार्च को क्रांति ज्योति सावित्री बाई फुले की पुण्यतिथि पर राजधानी पटना में आयोजित सम्मलेन में लोगों से भाग लेने की अपील की गयी । जत्था का नेतृत्व कर रही डौली ने बताया कि 30 दिनों में बिहार के 30 जिलों में जत्था जायेगी । अब तक दस दिनों में दस जिले का भ्रमण कर छपरा पहुंची है। उन्होंने कहा कि  8 छात्र – युवा एवं किसान – मजदूर संगठनों द्वारा आयोजित की गयी है, जिसमें बिहार आंबेडकर स्टूडेंट फोरम, जन जागरण शक्ति संगठन, जन आन्दोलनों का राष्ट्रीय समन्वय, आल इंडिया स्टूडेंट एसोसिएशन, आल इंडिया स्टूडेंट फेडरेशन, आल इंडिया यूथ फेडरेशन, बिहार महिला समाज, दिशा छात्र संगठन यात्रा के मुख्य आयोजक हैं। उन्होंने कहा कि यात्रा का मकसद विभिन्न जिलों के युवाओं के साथ संपर्क स्थापित कर, उन इलाकों की ज़मीनी हकीकतों और वहां रह रहे युवाओं के मुद्दों को समझना है । नुक्कड़ सभा में जत्था के सदस्य मनोज, डौली, तन्मय, सौरभ, सुलोचना, मधु, रेनू, जितेद्र, सोहिनी इत्यादि ने रोचक तरीके से गीत, नारा, परचा वितरण कर अपनी बात रखी। शिक्षा – रोज़गार में सरकार का नीजिकरण को बढ़ावा देने के प्रवृत्ति का विरोध किया एवं जाति – लिंग – धर्म आधारित भेदभाव के खिलाफ बिहार के तमाम नौजवानों की एकजुटता का पैगाम दिया ।अंबेडकर छात्रावास में आयोजित बैठक में  एआइएसएफ के राहुल कुमार ने जत्था का समर्थन करते हुए बिहार के युवाओं पर आई संकट पर बात रखी। बढती बेरोज़गारी, सरकारी स्कूलों की ख़राब हालत, गली गली कोचिंग सेंटरों में वृध्ही, छात्रवृत्ति में कटौती, लाखों सरकारी पद खली पड़े रहना, स्थायी नौकरियों को सोची समझी साजिश के तहत खात्मा, बढती महंगाई और कुपोषण के स्तर, वंचित समुदायों के नागरिकों पर बढती हिंसा, अभिव्यक्ति पर रोक-टोक पर संवाद किया । इसके पहले भेल्दी गांव में मुखिया रमेश राय के नेतृत्व में एक और नुक्कड़ सभा आयोजित किया गया ।  “सरकारी स्कूल बनेंगे अच्छे, इसमें पढेंगे सभी के बच्चे” एवं “हमें 10 प्रतिशत आरक्षण नहीं, जीडीपी  का 10 प्रतिशत शिक्षा पर खर्च चाहिए” । नौजवानों का जत्था पूर्वी चंपारण के लिए प्रस्थान किया ।

Ganpat Aryan

Web Media Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!