पीयूष आनंद हत्याकांड का सारण SP ने किया खुलासा, तीन हत्यारों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Spread the love
  • नौकरी दिलाने के नाम पर ली गयी राशि वापस मांगने पर की गयी हत्या

छपरा । सदर अस्पताल के कंप्यूटर ऑपरेटर पीयूष आनंद की हत्या मामले का पुलिस ने गुरुवार को खुलासा कर दिया और इस हत्या के मामले में संलिप्त सदर अस्पताल  के कर्मी अफजल अंसारी समेत तीन अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया ।बता दें कि अफजल अंसारी संविदा पर बहाल है और सदर अस्पताल के रजिस्ट्रेशन कॉउंटर पर कार्यरत था। इस आशय की जानकारी पुलिस अधीक्षक हरकिशोर राय ने अपने कार्यालय कक्ष में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में गुरूवार को दी । उन्होंने बताया कि 8 अक्तूबर को कंप्यूटर ऑपरेटर पीयूष आनंद की हत्या गङखा थाना क्षेत्र के अलोनी बाजार के पास गोली मारकर अपराधियों ने कर दी थी ।

एसपी ने किया था एसआईटी का गठन

हत्या के बाद जांच टीम का गठन एसआईटी के पुलिस निरीक्षक अरूण कुमार अकेला के नेतृत्व में की गयी थी । इस मामले में जांच के दौरान यह बात सामने आयी है कि सदर अस्पताल के संविदा कर्मी अफजल अंसारी गङखा निवासी धीरेन्द्र पांडेय ने हाजीपुर सिविल कोर्ट में नौकरी दिलाने के नाम पर 16 लाख रुपये लिया था । रूपये दिलाने में पीयूष आनंद ने मध्यस्थता किया था ।

इन लोगों से ली गयी है राशि
नौकरी के लिए मौना चौक के राजू अंसारी से दो लाख, इश्तेहाक अली से छः लाख, दारोगा राय चौक के कृष्णा राय से दो लाख रुपये, राजेश कुमार से छः लाख रुपये लिया गया था । सब राशि पीयूष आनंद ने लिया और अफजल अंसारी को दिया लेकिन नौकरी नहीं लगी तो, सभी लोग रूपये वापस मांगने लगे ।

राशि वापस मांगने पर अफजल ने करायी मर्डर

पीयूष आनंद ने रूपये वापस मांगने लगा तो, अफजल ने उसे गङखा बुलाया और अपराधी धीरेन्द्र पांडेय तथा बबलू कुमार के साथ मिलकर हत्या कर दी । बबलू कुमार बहेलिया श्यामचक का निवासी है । पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस मामले में संलिप्त अन्य अपराधियों को गिरफ्तार करने के लिए संभावित ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है । उन्होंने कहा कि यह स्पष्ट हो गया है कि नौकरी दिलाने के नाम पर ली गयी राशि वापस मांगने के विवाद में पीयूष आनंद की हत्या की गयी थी ।

एसआईटी टीम में ये थे शामिल
छापेमारी दल में गङखा थानाध्यक्ष गौरी शंकर बैठा, एसआईटी के पुअनि मनोज कुमार सिंह, मनीष कुमार सिपाही संजय कुमार, सुमंत कुमार, देवेन्द्र कुमार आदि शामिल थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Close
error: Content is protected !!