साहब! आप कहते है शराब बंद है, हम सभी के पति रोज पीकर आता है और जुल्म ढ़ाहता है

Spread the love

छपरा। कहने को यहां शराबबंदी है पर शराब बरामदगी के आंकड़े और घटनाएं इस बात की गवाह है कि शराब बिक रही है। शराब ने कई परिवारों की शांति भंग कर दी है। कईयों के परिवार बर्बाद हो रहे है। आज आपके सामने तीन महिलाओं की कहानी परोस रहे है।जिसमें उसके पति हर रोज शराब पीकर आता है और उसके ऊपर और बच्चों के ऊपर जुल्म ढ़ाहता है। स्थानीय पुलिस के पास गई पर कोई सुनने वाला नहीं। आज आंतक इस कदर पहुंच गया कि इन तीनों महिलाओं के पति घर से बेदखल भी कर दिया है। आइये जानते है इन तीनों महिलाओं की दर्द भरी दस्तान 

पहला कहानी:
यह मामला तरैया थाना क्षेत्र के पंचभिंडा गांव की है। उसके पति जो रोज पीकर आता है और पत्नी के ऊपर जुल्म ढ़ाहता है। उसे बेरहमी से पीटता है। उसे दो बच्चे है। एक नौ साल दूसरा पांच साल के। विरोध करने पर बच्चों को भी पीटता है। उसके पति ने बीती रात उसे बेरहमी से पीटा। उसे जान से मारने की कोशिश की। उसने जान बचाकर बच्चों को लेकर महिला हेल्प लाइन पहुंच गई। पीड़ित महिला ने पूरी दस्तान सुनाई। बताया कि हमारे मां-बाप को गफलत में रखकर शराबी से शादी करा दी। शादी 2006 में हुई। उसके बाद से ही वह हर रोज पीकर मारता-पीटता और गाली देता है। यहां तक उसने कई बार जान बचाकर मायके गई तो वहां भी पहुंच कर पीटा और लेकर चला आया। महिला का आरोप था कि थाना को कहने पर मैनेज कर लेता है। वह धमकी देता है और कहता है कि जाओ जहां शिकायत करनी है करो,मेरा कुछ नहीं बिगड़ने वाला। महिला ने बताया कि वह दबंग है,उसने नशे की हालत में एक बार एसपी साहब को गाली दे दिया था। उसका केस भी चल रहा है। महिला ने हेल्प लाइन से इस मामले में त्वरित कार्रवाई करने की गुहार लगाई है।

दूसरी कहानी:
यह कहानी एक सरकारी कर्मी से जुड़ा है। परसा के पोझी का मामला है। पति सरकारी सर्विस में है। उसकी शादी 2004 में हुई। उसे दो पुत्री है। उसके पति हर रोज पीकर आता है और मारपीट करता है। कई बार समझौता हुआ। बार-बार पीटकर घर से बाहर निकाल देता है। उसने थाने में भी इसकी शिकायत की लेकिन ठोस कार्रवाई नहीं की गई। इसलिए महिला हेल्पलाइन की दरवाजा खटखटायी है। हेल्पलाइन इस मामले में सुनवाई कर रही है। पीड़ित महिला ने रो-रोकर अपनी व्यथा कथा कहने लगी।

तीसरी कहानी:
यह मामला अफौर नगरा का है। इसके पति ने इतना जुल्म ढ़ाहा कि वह मौत के करीब से पहुंचकर आयी। शादी के दस साल हुए है। एक बेटा व एक बेटी भी है। पुलिस ने उसे जेल भी भेजा। लेकिन आने के बाद वह फिर से और जुल्म ढ़ाहने लगा। हर रोज पत्नी व बच्चों को पीटता है। सुनवाई करने पर वादा करता है कि अब ऐसा नहीं करेगा लेकिन फिर से मारपीट कर घर से निकाल देता है।

क्या कहती है हेल्पलाइन प्रबंधक
इन तीनों मामले में त्वरित कार्रवाई शुरु की गई है। संबंधित थाने के पुलिस अफिसर को भी लिखा गया है। तीनों महिला को घरेलु हिंसा से बहुत जल्द निजात दिलाया जायेगा। सुनवाई की जा रही है।
मधुबाला,प्रबंधक,महिला हेल्प लाइन

क्या कहते है एसपी
इस तरह के मामले अभी मेरे संज्ञान में नहीं आया है। अगर आता है तो संबंधित थानेदार को निर्देशित कर यथाशीघ्र कार्रवाई की जायेगी। शराबियों को किसी कीमत पर नहीं बख्सा जायेगा।
हरकिशोर राय,एसपी,सारण

Ganpat Aryan

Web Media Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!