छपरा में महिला से 10 वर्षाे तक साला-बहनोई ने किया यौन शोषण, जुड़वा बच्चे को दिया जन्म, एक को मार डाला

Spread the love

बिहार पुलिस का जवान है आरोपी इरफान का बहनोई, कहता है– मै खुद पुलिस वाला हूं मुझे कोई कुछ नहीं कर सकता

महिला ने दिया जुड़वा बच्चे को जन्म, एक को मार डाला

छपरा। सारण महिला शादी का झांसा देकर महिला से दस वर्षो तक यौन शोषण करने का मामला सामने आया है। जहा एक महिला को शादी का झंासा देकर उसके साथ 10 वर्षो तक यौन शोषण किया गया है। इस दौरान  कई बार जबरन उसका गर्भपात भी कराया गया है। गोपालगंज की रहने वाली महिला ने महिला हेल्पलाइन शिकायत लेकर पहुंची। जिसमें कहा गया है कि भगवान बाजार थाना क्षेत्र के ब्रहम्पुर निवासी इरफान खान ने महिला से शादी का झंासा देकर यौन शोषण किया। इस दौरान कई बार उसका गर्भपात भी कराया। पीड़ित महिला ने बताया कि शादी का झंासा देकर इरफान ने उसके साथ यौन शोषण किया। जब गर्भवती हो गयी तो जबरन उसका गर्भपात भी कराया दिया। यह सिलसिला करीब 10 वर्षों तक चलता रहा। इस दौरान इरफान के हमीन खान भी महिला के साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाने लगा। पीड़ित महिला ने बताया कि इस दौरान उसने दो जोड़ुआ बच्चे को जन्म दिया। तब इरफान महिला के साथ मारपीट कर घर से निकाल दिया और एक नवजात को इरफान ने मार डाला। दूसरे बच्चे को महिला ने अपने गांव के एक व्यक्ति को दे दिया और अपने मायके चली गयी। लेकिन मायके वाले भी उसे घर में घूसने नहीं दिया। तब वह गांव में ही दूसरे के घर रहने लगी। महिला ने बताया कि अब इरफान दिल्ली में रहता है। इरफान का बहनोई हमीन खान बिहार पुलिस का जवान है। वह सारण जिले के मांझी का रहने वाला है। उसने भी कई बार महिला के साथ संबंध बनाये है।

इरफान के गांव में ही हुई महिला की पहली शादी

महिला ने बताया कि मेरी पहली शादी इरफान खान के गांव ब्रहम्पुर में ही उसके रिश्ते के चाचा से हुई थी। जो उम्र में मेरा से बड़ा था। जिस कारण मैं उसके साथ नहीं रहना चाहती थी। इसी बीच इरफान मेरे घर आने-जाने लगा। दोनों के बीच प्यार हो गया । इरफान ने ही महिला से उसकी पति का तलाक दिलवाया और अपने साथ रखने लगा। दोनों पति-पत्नी की तरह रहने लगे। फिर इरफान खान अपने बहनोई हमीन खान को भी घर पर बुलाकर जबरन महिला को शारीरिक संबंध बनाने के लिए मजबूर करने लगा। इस तरह से दोनों साला-बहनोई ने दस वर्षो तक महिला के साथ यौन शौषण करते रहे। इस मामले में पूर्व में महिला थाने में पीडि़त महिला के द्वारा प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी। लेकिन पुलिस ने दोनों समझा-बुझाकर मामले को शांत करा दिया था।

दो जोडुआ बच्चों को दी थी जन्म, एक को इरफान ने मार डाला

महिला ने 8 माह पहले दो जोड़ुआ बच्चे को जन्म दी थी। महिला ने इरफान सहमति के बिना बच्चे को जन्म दिया। इसलिए इरफान एक बच्चे की गला दबाकर हत्या कर दी और महिला दूसरे बच्चे को लेकर भाग गयी। महिला ने दूसरे बच्चे को गांव के ही एक व्यक्ति सौंप दी। जिसके बाद महिला अपने मायके चली गयी। लेकिन मायके वालों ने उसे घर में आने से मना कर दिया। वह गांव के हीं किसी दूसरे के घर रहने लगी।

बिहार पुलिस का जवान है इरफान का बहनोई हमीन

पीड़ित महिला ने बताया कि इरफान के बहनोई मांझी के रहने वाला है। वह बिहार पुलिस का जवान है। वह धमकी देता है कि हम खुद पुलिस वाले हैं मुझे कुछ नहीं हो सकता है। वहीं आरोपी इरफान खान अपने परिवार के साथ दिल्ली में रह रहा है। उसके छपरा के ब्रहम्पुर स्थित घर पर ताला लटका हुआ है। इस मामले में पीड़ित महिला ने महिला हेल्पलाइन में एक लिखित शिकायत दी है।

क्या कहती है थानाध्यक्ष

इस मामले में पहले से पीड़ित महिला के द्वारा प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। फिलहाल जो लिखित आवेदन मिला है उसके आधार आगे की कार्रवाई की जा रही है।

विभा रानी, थानाध्यक्ष, महिला थाना

Ganpat Aryan

Web Media Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!