रेलमंत्री जी! चूहों के आतंक से बचाईये, एसी बोगी के यात्रियों ने लगाई गुहार

Spread the love

पटना। आपने रेल यात्रा के दौरान कई बार प्लेटफार्म पर चूहों के कारनामों के बारे में देखा या सुना होगा। लेकिन ट्रेन के भीतर इन दिनों चूहों का आतंक यात्रियों के लिए परेशानी का सवब बना हुआ है। जेनरल बोगी या स्लीपर बोगी से निकलकर ये चूहें एसी में सफर कर रहे हैं।जो आपके मंहगे बैग के साथ साथ खाने पीने की चीजों पर भी खूब हाथ साफ कर रहे हैं। ऐसी ही एक शिकायत की खबर भागलपुर-अजमेर-शरीफ गाड़ी संख्या 13423 के बी-3 के बर्थ नंबर 9, 10, 11,12,13,14 के यात्रियों के साथ चूह़ों ने अपना कारनामा कर दिखाया।चूहों ने न सिर्फ लोगों के भोजन पर हाथ साफ किया बल्कि बर्थ के नीचे रखें मंहगे ट्रॉली-बैग, झोले और पर्स को भी कुतर दिया। एसी बी-3 में सफर कर रहे बॉबी सिंह पुत्री शिप्रा सिंह, रामाशंकर तिवारी पुत्री सोनाली जमुई सहित देवघर और अन्य सहयोगी यात्रियों ने बताया कि जब गाड़ी कोटा स्टेशन पर पहुंचने वाली थी लोगों ने अपना-अपना बैग, ट्रॉली इत्यादि बर्थ की नीचे से निकालकर गेट पर ले जाना चाहा तो हालत देखकर लोग दंग रह गए।ट्रेन में अपने पापा के साथ सफर कर रही जमुई की शिप्रा और सोनाली ने बताया कि ये लोग कोटा में मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रही हैं। एग्जाम देकर होली के बाद कोटा लौट रही थी साथ में बैग और ट्रॉली में कोर्स से संबंधित कीमती किताबें थी जिसे चूहों ने कुतर दिया। आगे छात्राएं बताती हैं कि बर्थ पर कई जगह कट और होल था।

लेकिन हमलोग समझ नहीं पाएं कि ये चूहों का कारनामा है।पूरी घटना के बाद पीड़ित यात्रियों ने बताया कि अन्य शिकायत या सहायता के लिए जीआरपी और आरपीएफ के साथ-साथ हेल्प लाइन नंबर तो था लेकिन चूहों के कारनामे की शिकायत कहां करें समझ नहीं आया।बहरहाल ऐसे कई रेलयात्री है जिनके साथ यह परेशानी है। अब देखना दिलचस्प होगा की मंगलमय यात्रा की दुहाई देने वाली रेल इस समस्या से कैसे निजात दिला पाती है।

Ganpat Aryan

Web Media Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!