Ayodhya Case: विवादित जमीन पर सुप्रीम कोर्ट की मुहर, वहीं बनेगा मंदिर, मुस्लिमों को अलग से मिलेगी जमीन

इस समाचार को शेयर करें

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मंदिर पर ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए कहा है कि राम मंदिर विवादित जमीन पर ही बनेगा। सुप्रीम कोर्ट ने निर्मोही अखाड़े की याचिका को खारीज कर दिया और मुस्लिम पक्षकार को लेकर कहा है कि उन्हें अलग से 5 एकड़ जमीन दी जाएगी। बता दें कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण 02.77 एकड़ जमीन पर बनेगी जो कि केंद्र सरकार के अधीन रहेगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्या कहा?
सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ये समय भारतभक्ति का है। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, ‘देश के सर्वोच्च न्यायालय ने अयोध्या पर अपना फैसला सुना दिया है। इस फैसले को किसी की हार या जीत के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए। रामभक्ति हो या रहीमभक्ति, ये समय हम सभी के लिए भारतभक्ति की भावना को सशक्त करने का है। देशवासियों से मेरी अपील है कि शांति, सद्भाव और एकता बनाए रखें।’

इस निर्णय को हार-जीत के तौर पर न देखें: भागवत
कोर्ट के फैसले पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि ‘हम उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हैं। यह मामला दशकों से चल रहा था और यह सही निष्कर्ष पर पहुंच गया है। इसे हार या जीत के तौर पर नहीं देखना चाहिए। हम समाज में शांति और सद्भाव बनाए रखने के लिए सभी के प्रयासों का भी स्वागत करते हैं।’

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!