यहां विधायक जी ने करवायी चुंबन प्रतियोगिता, खुल्लम-खुल्ला KISS करते रहे 18 जोड़े

Facebook
Google+
http://sanjeevanisamachar.com/mla-in-jharkhand-organised-kissing-competition/
Twitter

रांची। झारखंड में तो गजब हुआ है. विधायक जी ने कुछ ऐसा कार्य करवाया जिससे झारखंड एकदम थाईलैंड लगने लगा. दरअसल, यहां चुंबन प्रतियोगिता का आयोजन कराया गया. शायद ही यह प्रतियोगिता देश में कहीं भी होती होगी. लेकिन यह झारखंड के पाकुड़ में हुआ है. और इसे करवाया है झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के वरिष्ठ विधायक साईमन मरांडी ने. विधायक ने लिट्टीपाड़ा में हर साल आयोजित होने वाले एक मेले में उन्होंने चुंबन प्रतियोगिता का आयोजन किया, जिसमें विवाहित जोड़ों ने खुलेआम एक-दूसरे को चूमा. विधायक साइमन मरांडी एवं प्रो स्टीफन मरांडी की मौजूदगी में हुई यह प्रतियोगिता सिदो-कान्हू मेले में आकर्षण का केंद्र रही. इस क्षेत्र में पहली बार हुई चुंबन प्रतियोगिता को देखने के लिए लोगों की भारी भीड़ उमड़ी. झारखंड में पहली बार आयोजित ऐसी प्रतियोगिता में 18 जोड़ों ने हिस्सा लिया. इन्होंने हजारों लोगों के सामने निः संकोच होकर अपनी-अपनी पत्नी को चूमा. इसमें सबसे लंबे समय तक चुंबन करने वाले तीन जोड़ों को पुरस्कृत किया गया.चुंबन प्रतियोगिता का आयोजन लिट्‌टीपाड़ा के विधायक साइमन मरांडी ने अपने पैतृक गांव तालपहाड़ी में लगने वाले डुमरिया मेले में कराया था. मरांडी का कहना है कि आदिवासी प्यार का इजहार करने में संकोची होते हैं, इसीलिए प्रेम और आधुनिकता को बढ़ावा देने के लिए यह प्रतियोगिता करवायी गयी.

उन्होंने बताया कि अपने दिल की बात न बता पाने के कारण आदिवासियों में पिछले कुछ वर्षों से पति-पत्नी के बीच झगड़े और तलाक के मामले बढ़े हैं. पढ़े-लिखे न होने के कारण आदिवासी अपने परिवार को सामाजिक ढांचे में ढाल नहीं पाते हैं. इससे उनके व्यवहार और पारिवारिक रिश्ते कमजोर हो जाते हैं. इस तरह की प्रतियोगिता उनके मन के संकोच को दूर करेगी.

Facebook
Google+
http://sanjeevanisamachar.com/mla-in-jharkhand-organised-kissing-competition/
Twitter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

error: Content is protected !!