सारण में असमाजिक तत्वों ने विद्यालय में घुस किया हंगामा, जरूरी कागजात फाड़ा

Spread the love

छपरा। सारण जिले के दरियापुर थाना क्षेत्र के दरिहारा उच्च विद्यालय  सह इंटर कॉलेज दरिहारा  में सोमवार की रात में असमाजिक तत्वों द्वारा पुस्तकालय तथा कार्यालय का ताला तोड़ कर विद्यार्थियों के भविष्य से जुड़े सभी कागजात को फाड़ कर पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त कर दिया गया. प्राप्त जानकारी के अनुसार दरिहारा उच्च विद्यालय दरिहारा के मैदान में अहले सुबह में सेना में भर्ती के उद्देश्य से दौड़ने आये दर्जनों युवकों की नजर विद्यालय का दरवाजा तोड़ अंदर का टेबल कुर्सी तथा कागजात को बाहर फेक क्षतिग्रस्त किया गए सामानों पर पड़ी ,  जिसकी सूचना युवकों ने ग्रामीणों को दिया. ग्रामीणों तक खबर पहुँचते ही सैकड़ों ग्रामीण घटना स्थल पर पहुँच कर वहां की स्थिति को देखा तो, सभी के पांव तले जमीन खिसक गया. ग्रामीणों ने इस घटना की सूचना विद्यालय के प्रधानाध्यापक उदय राज पाल को दिया. सूचना पाते ही प्रधानाध्यापक अपने सहयोगी शिक्षक मनोज कुमार तथा आलोक रंजन के साथ पहुंचे तथा वहां की स्थिति को देखने के बाद पुलिस को जानकारी दी। चोर कार्यालय का दरवाजा तोड़ कर पुस्तकालय में प्रवेश किया है । पुस्तकालय में लगे दो सेट अलमारी का शीशा  तोड़ कर उसमें रखे  जरूरी किताब, लैटर पैड, मोहर, इंटर सत्र 2017-19 के नामांकन का पुरा दस्तावेज, इंटर 2014 का मूलप्रमाण पत्र, एक दर्जन से अधिक कुर्सी टेबल, इंटर व मैट्रिक के बचे हुए कुछ विद्यार्थियों के सर्टिफिकेट, इंटर मैट्रिक का परिचय पत्र, पंखा आदि को पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त कर दिया गया हैं.  सूचना पाकर दरियापुर थानाध्यक्ष कुंज बिहारी राय दल -बल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे और मामले की जांच की और  स्थिति का जायज़ा लिया । कानूनी प्रक्रिया पूर्ण सहयोग करने के लिए ग्रामीणों को आश्वासन दिया. साथ ही आक्रोशित ग्रामीणों का कहना था कि इस विद्यालय में चोरी की चौथी घटना हैं। अगर प्रशासन द्वारा उचित कदम नहीं उठाया गया तो, हमलोग प्रशासन के खिलाफ अनसन पर बैठेंगे. दरिहारा उच्च विद्यालय में चोरी की घटना कोई नयी बात नहीं है।  पूर्व में भी इस तरह की कई घटनायें हो चुकी हैं. 2015 में विद्यार्थियों को कम्प्यूटर शिक्षा का ज्ञान देने के लिए 19 कम्प्यूटर सेट लगाया गया था,  जिसे असमाजिक तत्व के द्वारा चोरी कर ली गयी. 2016-17 में भी खिड़की तोड़ कर पंखे की चोरी कर ली गयी . ग्रामीणों तथा शिक्षकों के अनुसार 2018 में  सोमवार की रात्री की घटना बड़ी हैं , क्योकि इस घटना में सबसे अधिक विद्यार्थियों के भविष्य को क्षति पहुंचाया हैं. 
विद्यालय में चोरी की घटना बार- बार होने के बावजूद विद्यालय अथवा ग्रामीणों द्वारा किसी भी प्रकार की कोई सुरक्षा की व्यवस्था नहीं किया गया हैं. पहले की घटनाओं से सबक लेते हुए विद्यालय के संसाधनों की सुरक्षा के लिए अगर रात्री प्रहरी की व्यवस्था की गई होती तो, आज बच्चों के भविष्य के साथ इतनी बड़ी चूक नहीं होती.घटना स्थल पर उपस्थित ग्रामीणों में भाजपा कार्य समिति के सदस्य राकेश कुमार सिंह, दरिहारा मुखिया प्रतिनिधि राकेश राय, पूर्व बीडीसी सदस्य ब्रजेश सिंह, गोलोक बिहारी शरण सिंह, डोमन चौधरी, चन्देश्वर प्रसाद सिंह आदि थे.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Close
error: Content is protected !!