हाईकोर्ट के निरीक्षी न्यायाधीश ने सिविल कोर्ट का निरीक्षण किया

Facebook
Google+
http://sanjeevanisamachar.com/high-court-inspector-examines-civil-court/
Twitter

छपरा। हाईकोर्ट के जस्टिस सह छपरा सिविल कोर्ट के निरीक्षी न्यायधीश शिवाजी पांडेय ने शुक्रवार को सिविल कोर्ट का गहन निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होने अलग अलग कोर्टों में चल रही न्यायिक कार्यवाही को देखा भी। निरीक्षी न्यायधीश दो दिनों के निरीक्षण कार्यक्रम में यहां आये है। जस्टिस पांडेय दिन के करीब 11 बजे कोर्ट पहुंचे। वे सर्व प्रथम लोक अदालत में गये जहां उन्होने लोक अदालत के सचिव श्रीमती सरोज कुमारी से अद्यतन जानकारी ली। फिर वहां से वे जिला एवं सत्र न्यायधीश रमेश तिवारी की कोर्ट में पहुंचे। उस समय डीजे कोर्ट में जमानत याचिका पर सुनवाई हो रही थी। निरीक्षी न्यायधीश करीब दस मिनट तक डीजे कोर्ट में रूके। उन्होने गौर से पूरी कार्यवाही को देखा। डीजे कोर्ट से निकलकर एडीजे द्वितिय विजयानंद तिवारी, एडीजे षष्टम अंजनी कुमार सिंह, एडीजे अष्टम विनोद कुमार मिश्रा, एडीजे नवम ओमप्रकाश पांडेय, एडीजे दशम बीरेंद्र कुमार मिश्रा, फैमिली कोर्ट आदि का बारी-बारी से निरीक्षण किया। कई कोर्टों में वे कुछ देर के लिए रूके भी। कोर्ट की कार्यवाही देखने के बाद पुन: लोक अदालत पहुंचे। जहां डीजे से लेकर तमाम न्यायिक अधिकारी उनसे मिलने पहुंचे। उनकी बातों को निरीक्षी न्यायधीश ने ध्यान से सुना। इससे पूर्व कोर्ट के निरीक्षण को लेकर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किये गये थे। नगर थाना इंस्पेक्टर विजय कुमार सिंह ने कोर्ट में सुरक्षा इंतजाम का जायजा लिया। कोर्ट गेट से लेकर अलग-अलग प्वाइंट पर चेकिंग की जा रही थी। परिसर की सफाई भी विशेष तौर पर की गयी थी। करीब एक माह से निरीक्षण को लेकर तैयारी चल रही थी। कई मामलों की सुनवाई तेजी से हुई। सेशन व लोवर कोर्ट के कर्मचारियों ने केस से संबंधित अभिलेखों को अपटूडेट कर लिया था।

Facebook
Google+
http://sanjeevanisamachar.com/high-court-inspector-examines-civil-court/
Twitter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

error: Content is protected !!