दिघवारा के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी के खिलाफ CS ने दिया स्पष्टीकरण का आदेश

Spread the love

छपरा । सिविल सर्जन डा माधवेश्वर झा ने दिघवारा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी से स्पष्टीकरण पूछे जाने का आदेश मंगलवार को दिया और दो दिनों के अंदर जवाब तलब किया है। सिविल सर्जन ने बताया कि प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को 27 अप्रैल को निर्देश दिया गया था कि वरीय चिकित्सक डॉ राजकुमार सिन्हा को चिकित्सा पदाधिकारी का प्रभार सौंप दें ,लेकिन उनके द्वारा डा सिन्हा को प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी का प्रभार सौंपने के बजाय 29 मई को विरमित कर दिया गया एवं मार्च 2019 के वेतन का भी भुगतान नहीं किया गया। सिविल सर्जन ने बताया कि डॉ सिन्हा को प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी सह निकासी एवं व्ययन पदाधिकारी घोषित किया गया था। लेकिन डा सिन्हा के कर्तव्य अवधि के वेतन भुगतान नहीं किया गया और ना ही प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी के मनमानेपन, दबंगता तथा सरकारी आदेशों की अवहेलना एवं अनुशासनहीनता का परिचायक है। साथ ही सरकारी कार्यों में बाधा पहुंचाने का घोतक है। इस मामले को काफी गंभीरता से लिया गया है और उनसे दो दिनों के अंदर जवाब तलब किया गया है।

सिविल सर्जन ने सदर अस्पताल के उपाधीक्षक से किया जवाब तलब

सिविल सर्जन डॉ माधवेश्वर झा ने सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉक्टर दीपक कुमार से स्पष्टीकरण पूछे जाने का आदेश मंगलवार को दिया। उन्होंने उपाधीक्षक से तीन दिनों के अंदर बिंदु वार स्पष्टीकरण देने को कहा है। सिविल सर्जन ने बताया कि सदर प्रखंड के विशुनपुरा गांव निवासी राजकुमार सिंह ने जिलाधिकारी से सदर अस्पताल के उपाधीक्षक के खिलाफ शिकायत की थी। इस मामले में डीएम ने कार्रवाई करने का निर्देश दिया है । शिकायत पत्र में राजकुमार सिंह ने आरोप लगाया है कि वह 20 जून को सदर अस्पताल के ओपीडी में इलाज कराने के लिए गए थे। दिन के 11:30 बजे से 12:30 बजे तक वह ओपीडी में भटकते रहे, लेकिन कोई डॉक्टर नहीं मिला । साथ ही जब वह उपाधीक्षक के चेंबर में गए तो, उपाधीक्षक के चेंबर में भी ताला लटका हुआ था।

Ganpat Aryan

Ganpat Aryan

Multimedia Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!