छपरा में ANM को जान से मारने की धमकी देने के आरोप में मुखिया के खिलाफ FIR दर्ज

Spread the love
छपरा । सदर प्रखंड के डुमरिया स्वास्थ्य उपकेंद्र पर कार्यरत एएनएम आभा कुमारी के साथ दुर्व्यवहार करने तथा जान से मारने की धमकी देने के विरोध में सभी एएनएम के हड़ताल पर जाने के दूसरे दिन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी एक्शन में आए और इस मामले में एएनएम के साथ दुर्व्यवहार करने तथा जान से मारने की धमकी देने के आरोप में मुखिया पुलिस राय के खिलाफ गुरुवार को मुफस्सिल थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गयी । एएनएम आभा कुमारी की लिखित शिकायत के आलोक में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने प्राथमिकी दर्ज करायी । आरोप है कि 8 मई को एएनएम के साथ मुखिया ने दुर्व्यवहार किया था और जान से मारने की धमकी दी थी, लेकिन इस संबंध में एएनएम के द्वारा थाने में प्राथमिकी दर्ज करने के लिए आवेदन दिया, जिस पर पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की जिससे आक्रोशित होकर सदर प्रखंड के सभी एएनएम ने बुधवार को हड़ताल शुरू कर दिया ।
इसके पहले मंगलवार को सभी एएनएम ने सिविल सर्जन कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन कर मुखिया के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी और कार्रवाई नहीं होने पर हड़ताल शुरू करने की चेतावनी दी थी। गुरुवार को जब सभी एएनएम हड़ताल पर चली गई, जिसके कारण सदर प्रखंड के सभी स्वास्थ्य उप केंद्रों और आंगनबाड़ी केंद्रों पर नियमित टीकाकरण का कार्य बाधित हो गया,  जिसके बाद विभागीय अधिकारियों की नींद खुली और गुरुवार को जिला मुख्यालय से अधिकारियों ने पहुंचकर हड़ताली एएनएम के साथ वार्ता की और उनकी मांगों के आलोक में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी के द्वारा मुखिया के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई।
सिविल सर्जन ने पहुंच कर की मामले की जांच 
सिविल सर्जन डा माधवेश्वर झा, डीपीसी रमेशचन्द्र कुमार व अन्य अधिकारियों की टीम गुरूवार को सदर प्रखंड के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में पहुंच कर हङताली एएनएम के साथ वार्ता की । वार्ता के दौरान सभी एएनएम ने मुखिया के खिलाफ कार्रवाई की मांग की और मुखिया को स्वच्छता समिति से हटाने या एएनएम को इस समिति से अलग करने की मांग की । वार्ता के बाद मुखिया के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करा दी गयी, लेकिन स्वच्छता समिति से मुखिया या एएनएम को अलग करने विन्दु पर कार्रवाई को लेकर हङताली एएनएम अङी हुई है और हङताल जारी है । इस संबंध में पूछे जाने पर मुफस्सिल थानाध्यक्ष पुलिस निरीक्षक धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है और इसकी जांच की जा रही है। 
हङताल में यह कर्मचारी हैं शामिल 
हङताली कर्मचारियों में ज्योति कुमारी, अनुराधा कुमारी, उर्मिला कुमारी, ज्ञान्ति कुमारी, चिंता कुमारी, विमलेश देवी, आभा कुमारी, ललिता कुमारी, माधुरी कुमारी, सुनीता कुमारी, संध्या कुमारी, मनी देवी, सुलेखा कुमारी,सरिता कुमारी, सुमन प्रकाश, निर्मला देवी, कुमारी मनीला सिन्हा, किरण कुमारी, संजू कुमारी, कांति कुमारी, पूनम देवी, स्वर्ण लता देवी, स्नेह लता कुमारी, पूनम कुमारी,नीरज कुमारी, अंजू देवी, शारदा कुमारी, शीला कुमारी, मंजू सिंह, आदि ने भाग लिया ।
क्या है मामला 
हङताली चिकित्सा कर्मियों का कहना है कि इस घटना के विरोध में सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर काम-काज दूसरे दिन गुरूवार को भी बाधित है और सभी चिकित्साकर्मी सदर प्रखंड मुख्यालय में उपस्थित रहकर विरोध प्रदर्शन कर रही है । हङताली एएनएम का कहना है कि इस मामले में सदर प्रखंड के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने 11 मई को सिविल सर्जन को पत्र लिखकर वस्तु स्थिति से अवगत कराया था। साथ ही जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, प्रमंडलीय आयुक्त, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी को भी घटना की जानकारी दी गई थी, लेकिन अधिकारियों के द्वारा इसकी अनदेखी की जा रही है जिसके कारण स्वास्थ्य उपकेंद्र पर कामकाज बाधित कर दिया गया है और टीकाकरण का कार्य प्रभावित हो गया है ।
सभी स्वास्थ्य उप केन्द्रों और आंगनवाड़ी केन्द्रों पर नियमित टीकाकरण का कार्य ठप है । सभी एएनएम ने कार्य को ठप कर अपनी मांगों के समर्थन में सदर प्रखंड के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के समक्ष प्रदर्शन किया । हङताली एएनएम ने कहा कि स्वच्छता समिति मुखिया या  एएनएम में से किसी एक को हटा दिया जाए । अगर इस समिति में एएनएम को रखा जाता है तो, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी को रखा जाए । अगर मुखिया को रखा जाता है तो, एएनएम को समिति के सचिव पद से हटा दिया जाए । ऐसा नहीं होने पर राशि को वापस लौटा दिया जायेगा ।
Ganpat Aryan

Ganpat Aryan

Multimedia Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!