छपरा में स्कूल वैन पर गिरा बिजली का तार, दो मासूम बच्चों की मौत

Spread the love

Chhapra Desk: बिहार के छपरा जिले में बुधवार दोपहर बच्चों को छोड़ने घर जा रही एक स्कूल वैन पर हाईटेंशन वायर गिर गया। हादसे में 2 छात्रों की झुलसकर मौत हो गई, वहीं 3 छात्र गंभीर रूप से घायल हो गए। तीनों घायल छात्रों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना दोपहर करीब 3 बजे की है। बनियापुर के धोबवल गांव के पास ये हादसा हुआ है। हादसे में मरने वाले छात्रों का नाम अदिति कुमारी और रौशन कुमार बताया जा रहा है। अदिति कामता बनियापुर इलाके की रहने वाली थी वहीं रौशन कुमार छितौनी में रहता था। दोनों की उम्र करीब 10 साल बताई जा रही है। घटना के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

बच्चों को छोड़ने घर जा रही थी स्कूल वैन
मिली जानकारी के मुताबिक स्कूल की छुट्टी होने के बाद बच्चे वैन में सवार हुए। वैन बच्चों को छोड़ने के लिए घर जा रही थी। वैन जैसे ही श्रीपुर के पास पहुंची हाईटेंशन लाइन उस पर गिर गई। हादसे में 5 छात्र गंभीर रूप से झुलस गए। 2 छात्रों ने अस्पताल ले जाने के दौरान दम तोड़ दिया वहीं 3 घायल छात्रों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उनका इलाज जारी है। वैन में 9 बच्चे सवार था। हादसे में ड्राइवर भी गंभीर रूप से घायल हो गया जिसे सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सभी छात्र मिशन इन प्राउड ऑफ एजुकेशन स्कूल के हैं। घटना के बाद वहां आसपास लोगों की भीड़ जमा हो गई। वहां मौजूद लोगों में से किसी ने पुलिस को घटना की सूचना दी। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और घायल छात्रों को अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस ने हादसे में जिन दो छात्रों की मौत हुई थी उनके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया और जांच में जुट गई है।

बुरी तरह झुलस गए थे बच्चे
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि श्रीपुर के पास स्कूली वैन पर हाइटेंशन लाइन गिर पड़ी। अचानक हुए इस हादसे से बच्चों में चीख-पुकार मच गई। घटना में पांच बच्चे गंभीर रुप से झुलस गए। स्थानीय लोग बच्चों को तुरंत हॉस्पिटल ले गए। जहां पर डॉक्टरों ने आदिति व रौशन को मृत घोषित कर दिया। दोनों की उम्र करीब 10 वर्ष बताई जा रही है। आदिति, बनियापुर की जबकि रौशन छितौनी का रहने वाला था। हादसे में घायल हुए तीन अन्य बच्चों की हालत भी गंभीर बताई जा रही है। उधर, मृतकों के शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

ग्रामीणों में घटना को लेकर रोष
दर्दनाक हादसे की सूचना मिलते ही हजारों की संख्या में ग्रामीण घटनास्थल पर पहुंच गए। मासूमों की मौत से स्थानीय लोगों में रोष है। स्थानीय लोगों का कहना है कि विभागीय लापरवाही के चलते मासूमों की जान गई है। विभाग द्वारा हाइटेंशन लाइन बिछाने के बाद उसकी जांच नहीं की जाती। यह घटना उसी लापरवाही का खामियाजा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Close