सदर अस्पताल के सर्जिकल वार्ड में एक भी स्टाप नहीं, भर्ती मरीजों कौन रखेगा ख्याल?

Spread the love

छपरा। सदर अस्पताल में भर्ती मरीजों का इलाज भगवान भरोसे चल रहा है। अस्पताल के सर्जिकल वार्ड में भर्ती मरीजों की दशा देख कर ऐसा लगता है, जैसे उन्हें उनके हाल पर छोड़ दिया गया हो। उचित देखभाल के अभाव में मरीजों का इलाज सही ढंग से नहीं हो पा रहा। गुरुवार को सदर अस्पताल के सर्जिकल वार्ड में एक भी स्टाफ नजर नहीं आये। सभी स्टाफ गायब थे। ऐसी स्थिति में मरीज से संबंधित कोई भी परामर्श लेने के लिए भटकना पड़ता है।

वार्ड में भरती मरीज एक सूई लगाने के लिए भी नर्स की ओर टकटकी लगाये रहते हैं। इन मरीजों को समय पर न तो सूई-दवा मिल पाती है न इनकी देखरेख होती है। सर्जिकल वार्ड में न तो कोई वार्ड अटेंडेंट न ही वार्ड ब्यॉय, शाम के बाद नर्सें भी नदारद, ऐसे में मरीजों की देखभाल हो, तो कैसे। इसमें भी लापरवाही देखी जाती है। इस बीच वार्ड में भरती किये जाने वाले मरीजों के सामने सबसे बड़ी समस्या होती है कि उनकी देखरेख कौन करें।

क्या कहते सिविल सर्जन

इस बावत सिविल सर्जन डॉ. ललित कुमार से पूछा गया तो बताया कि आज हम सुबह से ही पटना मुख्यालय में मीटिंग में हूं। ऐसी परिस्थिति क्यों आई इसके बारें में पूछता हूं।

डॉ ललित मोहन प्रसाद, सिविल सर्जन सारण

Ganpat Aryan

Web Media Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!