DM ने हेल्थ विभाग के अधिकारियों के साथ की बैठक, कालाजार प्रभावित इलाकों में दवा छिड़काव करने का दिया निर्देश

Spread the love

Chhapra Desk: सरकार द्वारा कालाजार बीमारी को जड़ से समाप्त करने के लिए लगातार दवा की छिड़काव करा रही है। वहीं सारण जिले में कालाजार बीमारी के लगातार मरीज मिल रहे हैं। इस सप्ताह भी जिले में कालाजार बीमारी के 11 नये मरीज पाए गए हैं। इसको लेकर जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को सख्त निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि जहां कालाजार के मरीज पाए जा रहे हैं और जो प्रभावित इलाका है, वहां दवा का छिड़काव सही तरीके से कराया जाए। दवा की गुणवत्ता पर भी विशेष ध्यान रखने का निर्देश डीएम ने दिया है।जिलाधिकारी हरिहर प्रसाद ने कालाजार बीमारी एवं दवा की छिड़काव की समीक्षा करने के लिए सोमवार को समाहरणालय स्थित कार्यालय कक्ष में संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की। जिसमें उन्होंने कहा कि दवा की गुणवता एवं मात्रा पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। दवा का छिड़काव ससमय नहीं होने के कारण कालाजार के फैलाव की संभावना बढ़ जाती है। छिड़काव के समय यह सुनिश्चित कर लिया जाए कि घर का कोई हिस्सा नहीं छुटे। उन्होंने कहा कि छिड़काव के समय घर में पड़ी दरारों पर विशेष ध्यान दिया जाए, ताकि कालाजार के मच्छर के छिपने की जगह नहीं मिले। घर के पास बांसवारी या किसी तरह की गंदगी होने पर वहां भी छिड़काव कराया जाए। जिलाधिकारी ने सभी संबंधित चिकित्साधिकारियों को निर्देश दिया कि वे उन क्षेत्रों पर विशेष ध्यान दे। जहां नये कालाजार के मरीज मिले हैं, उन मरीजों के घरों के आस-पास के क्षेत्रों में दुबारा गहन छिड़काव सुनिश्चित करें, ताकि मरीजों की संख्या में वृद्वि नहीं हो। उन्होंने संबंधित चिकित्साधिकारियों को निर्देश दिया कि वे छिड़काव की निगरानी प्रभावशाली ढंग से करें एवं इसका गहन प्रवेक्षण करें। डीएम ने स्पष्ट रुप से कहा कि कालाजार मरीजों के इलाज में किसी तरह का कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी तथा कार्य में लापरवाही बरतने वाले कर्मियों एवं अधिकारियों के विरुद्व कार्रवाई की जाएगी। जिला मलेरिया अधिकारी ने बताया गया कि इस सप्ताह में 11 कालाजार के मरीजों को चि¨हत कर उनका इलाज किया जा चुका है तथा मुख्यमंत्री कालाजार राहत योजना के अंतर्गत उन्हें अनुदान की राशि का भुगतान भी किया जा चुका है। बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी सारण, जिला मलेरिया अधिकारी एवं सभी अस्पतालों के प्रभारी चिकित्साधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!