संस्कारयुक्त शिक्षा से ही होगा देश व समाज का विकास: प्रो. प्रमेन्द्र रंजन

Spread the love

छपरा। शहर के जगदम कॉलेज  स्थित संस्कार विद्यापीठ विद्यालय के चौथी वार्षिकोत्सव धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर विद्यालय के छात्रों ने एक से बढ़कर एक प्रस्तुति देकर सभी दर्शकों का मन मोह लिया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ प्रो. प्रमेन्द्र रंजन सिंह, रघुवंश नारायण सिंह, डॉ हरेन्द्र सिंह, विद्यालय के संरक्षक अनिरुद्ध कुमार सिंह, निर्देशिका अमृता सिंह ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस अवसर पर प्रो. प्रमेन्द्र रंजन ने कहा कि आधुनिक समय में संस्कार युक्त शिक्षा के द्वारा ही प्रतिभाओं के व्यक्तित्व का विकास सम्भव है। वर्तमान समय में जहां नित नए आविष्कार हो रहे हैं। ऐसे में युवाओं के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती अपने परिवेश में तालमेल बैठा पाने की है। विद्यार्थियों में सीखने की जिज्ञासा बलवती होती है। इसके साथ ही उन्हें समाज में हो रहे बदलाव के प्रति जागरूक किया जाना भी आवश्यक है। जिससे वह अपने जीवन में सफलता अर्जित कर सके। आधुनिक समय में संस्कार युक्त शिक्षा के द्वारा ही प्रतिभाओं के व्यक्तित्व का विकास सम्भव है। वर्तमान समय में जहां नित नए आविष्कार हो रहे हैं। ऐसे में युवाओं के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती अपने परिवेश में तालमेल बैठा पाने की है। विद्यार्थियों में सीखने की जिज्ञासा बलवती होती है। इसके साथ ही उन्हें समाज में हो रहे बदलाव के प्रति जागरूक किया जाना भी आवश्यक है। जिससे वह अपने जीवन में सफलता अर्जित कर सके।

वहीं सीपीएस के निदेशक डॉ हरेंद्र सिंह ने कहा कि अभिभावकों व गुरुजनों को बच्चों के मन: स्थिति के बारे में बखूबी जानकारी रखनी चाहिए। उनके मानसिक स्तर को ध्यान में रखकर ही उनके साथ व्यवहार करना चाहिए। अगल बगल के बच्चों को देखकर प्रतिस्पर्धा की भावना नहीं रखनी चाहिए। क्योंकि हर बच्चे की अपनी अपनी क्षमता होती है। कोई किसी विषय में अच्छा होता है तो कोई किसी और विषय में। कुछ बच्चे बचपन से ही गीत संगीत व खेलकूद में रुचि रखते हैं तो कुछ बच्चे पढ़ाई में ही जमकर मन लगाते है।प्रत्येक बच्चे में प्रतिभा होती है। आवश्यकता इस बात की होती है कि उसे सही तरीके से पहचान कर तरासा जाय। ऐसा न होने पर बच्चे कुंठित हो जाते हैं। धीरे धीरे वे पढ़ाई ,खेल कूद व समाज से कटकर रह जाते हैं। ऐसे में आवश्यकता है कि बच्चों के साथ मित्रवत व्यवहार किया जाय और उनकी रूचि का ध्यान रखकर उन्हें अपना लक्ष्य चुनने दिया जाय।

इस दौरान स्टूडेंट ऑफ द ईयर का पुरस्कार शाइनी कुमारी को मिला। इस अवसर पर विद्यालय परिवार की तरफ से समाज मे उत्कृष्ट कार्य करने के लिए तीन संस्थाओ को भी सम्मानित किया गया। कार्यक्रम को सफल बनाने मे विद्यालय के प्रबंधक अजीत कुमार ने अहम भूमिका निभाई।

Ganpat Aryan

Web Media Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!