‘दीन बचाओ-देश बचाओ’ रैली का आयोजन, गांधी मैदान में जुटे मुस्लिम संगठन के लोग

Spread the love
Patna Desk: पटना  के गाँधी मैदान में “ दीन बचाओ-देश बचाओ “ रैली की शुरुवात हो चुकी है.तेज धुप और गर्मी के वावजूद हजारों की तादाद में लोग पटना के गाँधी मैदान में पहुँच चुके हैं.रैली में आने का सिलसिला जारी है. सबके सर पर मुसलमानी टोपी तो हाथों में तिरंगा है.युवाओं में गजब का उत्साह है और बूढ़े बुजुर्ग भी उनके कदम से कदम मिलाने की कोशिश करते दिख रहे हैं.पहलीबार पटना में इस तरह का नजारा देखने को मिल रहा है .गांधी मैदान में 50 हजार से ज्यादा लोग 10 बजे सुबह तक ही पहुँच चुके थे और रैली में हर जिलों से लोगों के आने का सिलसिला जारी है.रैली अब शुरू होनेवाली है .रैली के दौरान कोई अप्रिय घटना ना घटे या फिर रैली में आये लोगों को कोई परेशानी न हो शहर के हर चौक चौराहे से लेकर रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर सुरक्षाकर्मी तैनात हैं.गाँधी मैदान में रैली में आनेवाले लोगों के लिए शरबत और पानी की व्यवस्था सामाजिक संगठनों  की तरफ से की गई है.रैली की पूर्व संध्या पर पुलिस और प्रशासन के तमाम बड़े अधिकारियों ने गांधी मैदान में सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया .गांधी मैदान में अम्बुलेंस तैनात हैं और पुलिस चौकस है. गौरतलब है कि तीन  तलाक जैसी प्रथा पर रोक लग जाने के बाद नाराज मुस्लिम पर्सनल बोर्ड ने केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने की तैयारी कर ली है. इस्लाम समुदाय के बड़े संगठन अपने इसी अभियान के तहत आज  पटना में बड़ी रैली के आयोजन कर रहे हैं .इस रैली में  लाखों मुस्लिम समुदाय के लोगों के आने  की संभावना है. संगठन गांधी मैदान दीन बचाओ, देश बचाओ नाम से रैली का आयोजन करेगी.  कई मौलवी और समुदायों ने भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर आरोप लगाया है कि मुसलमान और देश बीजेपी के इस शासन काल  में सुरक्षित नहीं है. एआईएमपीएलबी के महासचिव मौलानी वली रहमानी ने कहा कि हमने चार साल इंतजार किया, यह सोचकर कि बीजेपी संविधान के तहत देश चलाना सीख लेगी. हमारे पर्सनल लॉ पर हमला हो रहा है. हमें अपने देशवासियों को बताना पड़ रहा है कि देश के साथ-साथ इस्लाम पर भी खतरा है. वहीं इमारत शरीया के जनरल सेक्रेटरी मौलाना अनिसुर रहमान कासमी का कहना है कि इस रैली के पीछे किसी विपक्षी पार्टी का हाथ नहीं है. हां, विपक्ष के नेता इस रैली में मौजूद हो सकते हैं, लेकिन अब समय है कि हम बोलेंगे और राजनीतिक पार्टी के नेता सुनेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Close