दारोगा-सिपाही हत्या कांड के आरोपियों की संपत्ति होगी कुर्क, चस्पा इश्तेहार

Spread the love

छपरा । एसआइटी के दरोगा तथा सिपाही की मढौरा में तीन दिन पहले हुई हत्या के मामले में फरार आरोपियों पर पुलिस ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। घटना के तीसरे दिन आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो सका है। इसी बीच इस मामले में पुलिस के द्वारा सीजेएम के कोर्ट में आरोपियों के खिलाफ गैर जमानती वारंट तथा फरारी का इश्तेहार चस्पा करने के लिए आदेश निर्गत करने हेतु याचिका दायर किया गया। मढ़ौरा थाना कांड संख्या 596/ 19 के अनुसंधानकर्ता सह थानाध्यक्ष राम बालेश्वर राय ने सीजेएम नूर सुल्ताना के न्यायालय में गुरुवार को याचिका दायर किया, जिसमें दारोगा मिथिलेश कुमार साह, सिपाही मोहम्मद फारूक की गोली मारकर हत्या करने तथा सिपाही रजनीश कुमार को घायल करने के मामले में नामजद सात आरोपितो में से छह के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट निर्गत करने का अनुरोध किया है। साथ ही सभी के फरार घोषित करने संबंधित इश्तेहार चस्पा करने का भी आदेश निर्गत करने का आग्रह किया गया है। फरार घोषित करने और इश्तिहार चस्पा करने के बाद पुलिस के द्वारा अगला कदम उठाया जायेगा, जिसमें सभी आरोपियों की संपत्ति की कुर्की जब्ती करने के लिए न्यायालय में याचिका दायर किया जा सकता है। इस मामले में सारण जिला परिषद अध्यक्ष मीना अरूण, भतीजा सुबोध कुमार सिंह के अलावा अभिषेक सिंह, रोहित सिंह, पवन सिंह, राजू सिंह का नाम शामिल है। बताते चलें कि इस मामले में नामजद सभी आरोपितों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस घटना के दिन से ही लगातार छापेमारी कर रही है । इसके लिए कई थाने की पुलिस को भी लगाया गया है। जानकारी के अनुसार अपराधियों को पकड़ने के लिए जिला व राज्य से बाहर के भी कई स्थानों पर छापेमारी के लिए पुलिस टीम को भेजा गया है, लेकिन अब तक गिरफ्तारी नहीं हो सका है। इस मामले के एक आरोपी व जिला परिषद अध्यक्ष मीना अरूण के पति तथा सलिमापुर पंचायत के मुखिया अरूण कुमार सिंह दोहरे हत्या के मामले में उत्तर प्रदेश के बलिया जेल में पहले से ही बंद है और उन पर हत्या की साजिश रचने का आरोप है।

Ganpat Aryan

Ganpat Aryan

Multimedia Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!