संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों की हड़ताल से चिकित्सा सेवा बाधित, मरीजों को परेशानी

Facebook
Google+
http://sanjeevanisamachar.com/contracts-health-care-workers-disrupted-medical-service-patients-trouble/
Twitter

छपरा। स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों की हड़ताल के कारण जिले में चिकित्सा सेवा पूरी तरह चरमरा गयी है और आपातकालीन सेवा को छोड़ कर सभी सेवा ठप रहा । हड़ताली कर्मचारियों ने सिविल सर्जन कार्यालय के समक्ष धरना दिया और 6 दिसंबर को समाहरणालय के समक्ष प्रदर्शन करने की घोषणा की है । बिहार राज्य संविदा कर्मचारी संघ की ओर से आयोजित धरना को संबोधित करते हुए अध्यक्ष मो इमरान हुसैन ने कहा कि समान काम के लिए समान वेतन की मांग जब तक सरकार नहीं मान लेगी, तब तक अनिश्चित कालीन हड़ताल जारी रखा जाएगा । उन्होंने कहा कि अपनी मांगों के लिए जिले के सभी स्वास्थ्य कर्मचारी एकजुट हैं और पूरे जिले में हड़ताल सफल है । उन्होंने कहा कि सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों, रेफरल अस्पतालों, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों, अनुमंडलीय अस्पतालों में काम काज बाधित है । उन्होंने कहा कि सरकार की गलत नीतियों के कारण स्वास्थ्य कर्मचारियों के हड़ताल पर चले जाने से आमजनों को चिकित्सा सेवा से वंचित होना पड़ रहा है और इसके लिए सरकार दोषी है जिससे आमजनों में काफी आक्रोश है । उन्होंने कहा कि हड़ताल में संविदा पर बहाल सभी कर्मचारी शामिल हैं जिसमें डीपीएम, डीसीएम, डीपीसी, डीएमइओ, बीसीएम, बीएमइओ, बीएएम, बीएचएम, केटीएस, आशा कार्यकर्ता, ममता कार्यकर्ता, कुरीयर, 102 एंबुलेंस कर्मचारी, डाटा ऑपरेटर, लैब टेक्निशियन, पारा मेडिकल स्टाफ आदि शामिल हैं । धरना को सचिव गौरव कुमार श्रीवास्तव, डा रवीन्द्र प्रसाद, डा रूपेश पांडेय, डा विनोद कुमार सिंह, रमेश चंद्र कुमार, विज्येन्द्र कुमार सिंह, नेसार आलम, मोबस्सीर हुसैन, डा रिशु कुमार, पीयूष कुमार, रिंकी, कमलेश कुमार, सुधीर सिंह, डा राजेश्वर पंडित, कमलावती देवी, पुष्पा देवी आदि ने संबोधित किया । 

बिहार राज्य एएनएम संविदा कर्मचारी संघ की ओर से 33 वें दिन भी सिविल सर्जन कार्यालय के समक्ष धरना दिया गया और समान कार्य के लिए समान वेतन की मांग की मांग की गयी । धरना को संबोधित करते हुए संघ के अध्यक्ष नीलम सिंह ने कहा कि 6 दिसंबर को समाहरणालय के समक्ष प्रदर्शन किया जाएगा । उन्होंने सभी हड़ताली कर्मचारियों से प्रदर्शन में बढ चढ कर हिस्सा लेने की अपील की । उन्होंने कहा कि सरकार की हठधर्मिता के कारण 33 दिनों से लगातार हड़ताल जारी है जिससे स्वास्थ्य सेवा पूरी तरह ठप हो चुकी है और सरकार की ओर से संचालित स्वास्थ्य कार्यक्रम फेल हो चुके हैं । धरना को प्रियंका कुमारी, नीतू कुमारी, अनिता कुमारी, सुनिता कुमारी, सरिता कुमारी, पुष्पा कुमारी, रमेश कुमार यादव, अर्जुन सिंह आदि ने संबोधित किया । धरना में काफी संख्या में चिकित्सा कर्मचारियों ने भाग लिया ।

Facebook
Google+
http://sanjeevanisamachar.com/contracts-health-care-workers-disrupted-medical-service-patients-trouble/
Twitter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

error: Content is protected !!