छपरा मंडल कारा में वर्चस्व को लेकर हुई मारपीट, कैदियों का दूसरे जेल में होगा स्थानांतरण

Spread the love

छपरा। छपरा मंडल कारा में वर्चस्व को लेकर शुक्रवार को मारपीट करने वाले कैदियों के दंडात्मक कार्रवाई की जायेगी । उक्त बातें जेल अधीक्षक मनोज कुमार सिन्हा ने घटना के बाद “संजीवनी समाचार” से कही । उन्होंने बताया कि वर्चस्व की लड़ाई में कैदियों के दो गुटों के बीच मारपीट हुई है और एक कैदी को जख्म लगा था जिसका इलाज सदर अस्पताल में कराया गया । उन्होंने बताया कि फिलहाल स्थिति सामान्य है और जेल में वर्चस्व की लड़ाई में शामिल बंदियों के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जायेगी । इस घटना से वरीय अधिकारियों को अवगत करा दिया गया है ।

उन्होंने बताया कि वैसे सभी बंदियों को दूसरे जेल में स्थानांतरित कर दिया जायेगा, जो जेल में अराजकता का माहौल उत्पन्न कर रहे हैं । वैसे सभी बंदियों को चिन्हित किया जा रहा है । बताते चलें कि छपरा मंडल कारा में बंद कैदियों के बीच वर्चस्व कायम करने को लेकर शुक्रवार को दोपहर के समय जमकर मारपीट हो गयी । इस घटना में एक कैदी गंभीर रूप से घायल हो गया । घायल कैदी का इलाज के लिए सदर अस्पताल में कराया गया । घटना का कारण आपसी विवाद और वर्चस्व की लड़ाई बताया जा रहा है । इस घटना के बाद जेल प्रशासन ने जांच अभियान चलाया । घायल कैदी जलालपुर थाना क्षेत्र के कोठेया गांव निवासी रितिक सिंह बताया जाता है । वह आर्म्स एक्ट के मामले में मई माह में जेल में आया था । दोपहर के समय जेल के वार्ड संख्या तीन, दस और 21 कैदियों के बीच वर्चस्व कायम करने को लेकर मारपीट हो गयी ।इसी घटना में रितिक सिंह की पकड़ कर पिटाई कर दिया गया। पिटाई करने वालों में हरिहर सहनी, टिंकू शर्मा और नरेश राय, इरफान खान शामिल हैं । मारपीट की घटना जेल के वार्ड संख्या दस में हुई । जेल में मारपीट की घटना के कारण अफरा तफरी मच गयी । जेल प्रशासन ने पगली घंटी बजाया। जेल में उत्पन्न भगदङ पर नियंत्रण करने के लिए जेल प्रशासन को काफ़ी मशक्कत करनी पड़ी । इस दौरान जेल प्रशासन को बल प्रयोग करना पङा और लाडी चार्ज करना पड़ा । बताया जाता है कि जेल में कैदियों के दो गुटों के बीच मारपीट में एक गुट में नरेश राय, अमिर रजा खान, इरफान खान शामिल थे, जबकि दूसरे गुट में रितिक सिंह, मनीष, मोनू राय, सोनू राय व अन्य शामिल थे। तभी पगली घंटी बजा और पुलिस ने लाठी चार्ज किया । जेल में पहले से भी वर्चस्व को लेकर लड़ाई होते रहा है। इन लोगो को काबू करने के लिए जेल प्रशासन को हमेशा बल प्रयोग करना पड़ रहा है। इस घटना कुछ दिनों पहले जेल में बंद नरेश राय की पिटाई वर्चस्व को लेकर की गयी थी।

Ganpat Aryan

Web Media Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Close
error: Content is protected !!