कड़े सुरक्षा के बीच कदाचार मुक्त माहौल में होगी BSSC की परीक्षा : DM

Spread the love

छपरा । हाइटेक सुरक्षा व्यवस्था के बीच 8 से 10 दिसंबर तक दोनों पालियों में होने वाली प्रथम इंटर स्तरीय संयुक्त (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा 2014 को हाइटेक सुरक्षा के बीच कराया जायेगा । इस आशय की जानकारी जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन ने मंगलवार को दी । उन्होंने बताया कि
शांतिपूर्ण तथा कदाचारमुक्त वातावरण में निष्पादन की जिम्मेवारी प्रशासन के साथ-साथ केंद्राधीक्षकों व वीक्षकों की है । उन्होंने बताया कि इस दायित्व का बेहतर निर्वहन कर तीन वर्ष पूर्व इस परीक्षा में अनियमितता के कारण बिहार पर लगने वाले काले धब्बे को मिटाने में आपकी महत्वपूर्ण भूमिका है । डीएम ने बीएसइसीसी के निर्देश के आलोक में जिले के विभिन्न विद्यालयों में यह के पांच सौ से ज्यादा केंद्राधीक्षकों व वीक्षकों के साथ बैठक की । उन्होंने कहा कि परीक्षा में आयोग के निर्धारित मानदंडों का हु बहु पालन करना है । इस दौरान उन्होंने कहा कि आयोग के निर्देशानुसार मजिस्ट्रेट, केंद्राधीक्षक, वीक्षक सभी अपने-अपने निर्धारित अपने केंद्रों पर निर्धारित समय पर पहुंचेगे । वहीं परीक्षा के लिये निर्धारित समय पर नहीं पहुंचने वाले परीक्षार्थियों को किसी भी स्थिति में परीक्षा कक्ष में बैठने की अनुमति नहीं होगी । परीक्षार्थियों को अपने साथ न तो, अपनी कलम लेकर आनी होगी और न कोई आभूषण, घड़ी व अन्य कोई इलेक्ट्रॉनिक गजट । परीक्षा के दौरान केंद्रों पर जैमर लगाया जायेगा जिससे मोबाइल या अन्य उपकरण काम नहीं कर सके । इस दौरान डीइओ जयचंद प्रसाद श्रीवास्तव ने प्रोजेक्टर के माध्यम से केंद्राधीक्षकों व वीक्षकों को उनके कर्तव्यों की विस्तृत जानकारी दी । इस अवसर पर सदर डीसीएलआर सह ओएसडी संजय कुमार, डीपीआरओ ज्ञानेश्वर प्रसाद, सदर डीइओ द्विजेंद्र प्रसाद राय आदि उपस्थित थे। प्रशिक्षण के दौरान देर से आने वाले आधा दर्जन शिक्षकों को उपस्थित डीइओ ने जहां प्रशिक्षण से वापस कर दिया । वहीं सभी केंद्राधीक्षकों को यह जानकारी दी कि पांच दिसंबर को पांच बजे समाहरणालय सभाकक्ष में सभी केंद्राधीक्षक, पेट्रौलिंग मजिस्ट्रेट व पुलिस पदाधिकारियों की संयुक्त प्रशिक्षण होगा । जिसमें परीक्षा के संबंध में आवश्यक प्रावधानों को बताया जायेगा । इस प्रकार छ: पालियों में प्रति दिन 6350 के हिसाब से लगभग 38 हजार परीक्षार्थी 12 परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा में होंगे ।
परीक्षार्थी अधिक से अधिक एनसीइआरटी, आइसीएससी या अन्य बोर्ड की तीन पुस्तकें ही परीक्षा में ले जा सकते है । परीक्षा में परीक्षार्थियों को जुता, मोजा, आभूषण तथा घड़ी के अलावा अन्य इलेक्ट्रॉनिक गजट लाने पर रोक रहेगी । परीक्षा केंद्र पर जैमर लगाने के साथ-साथ प्रत्येक कक्ष में आयोग एक – एक दिवाल घड़ी लगायेगा । परीक्षार्थियों को आयोग अपनी ओर से कलम उपलब्ध करायेगा जिसे परीक्षा समाप्ति के बाद ओएमआर, प्रश्न पुस्तिका के साथ कलम भी लौटानी होगी । परीक्षा कक्ष में आठ के गुणक में ही अभ्यर्थी को बैठाने तथा 24 अभ्यर्थी पर दो वीक्षक रखने की व्यवस्था । परीक्षा कक्ष में किसी भी प्रकार की बीडीओग्राफी नहीं होगी । प्रथम पाली के प्रश्न पत्र पूर्वाहन 8.30 बजे तक तथा द्वितीय पाली के प्रश्न पत्र 12.30 तक सभी केंद्रों पर हस्तगत कराये जायेंगे । अनुपस्थित अभ्यर्थियों का ब्योरा वीक्षक लाल कलम से अप्सेंट लिखकर देंगे । प्रत्येक दो सौ अभ्यर्थी पर एक प्रेक्षक की तैनाती होगी । पांच सौ से ज्यादा परीक्षार्थी वाले केंद्रों पर डीएम के साथ-साथ एसपी भी रहेंगे । परीक्षा प्रारंभ होने के डेढ़ घंटा पूर्व वीक्षकों को केंद्र पर पहुंचने की जिम्मेदारी होगी । परीक्षा केंद्र के मुख्य द्वार पर सघन तलाशी के साथ-साथ कक्ष व संबंधित अभ्यर्थी के क्रमांक अंकित करने होंगे । केंद्राधीक्षक के पास सामान्य मोबाइल, परंतु, अन्य किसी वीक्षक के पास मोबाइल नहीं होगी । प्रत्येक कक्ष में होगी एक भ्रमण तालिका पर कक्ष में जाने वाले को प्रविष्टि अंकित करनी होगी  ।

Ganpat Aryan

Web Media Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!