BREAKING: छपरा में रक्षक बने भक्षक, RPF पोस्ट पर महिला के साथ पुलिसकर्मियों ने किया बलात्कार

Spread the love

छपरा । रक्षक ही भक्षक बन गये । जिन पर रेल यात्रियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी है, वही रेलवे सुरक्षा बल पोस्ट पर बालिका की अस्मत के साथ रात भर खिलवाड़ करते रहे । यह घटना पूर्वोत्तर रेलवे के छपरा जंक्शन के रेलवे सुरक्षा बल पोस्ट की पर एक बालिका से हुई । आरपीएफ जवान ने दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया जिसकी जांच शुक्रवार को रेलवे सुरक्षा बल के आइजी व वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त के आदेश पर शुरू कर दिया गया ।

छात्रा का मेडिकल जांच कराया गया
इस घटना की पीङिता की मेडिकल जांच सदर अस्पताल में कराया गया है लेकिन अब तक जांच रिपोर्ट नहीं आया है । रेलवे सुरक्षा बल के स्थानीय पदाधिकारी मामले को रफा – दफा करने का प्रयास कर रहे हैं । इस मामले में छपरा बालिका गृह के अधीक्षक ने प्राथमिकी दर्ज करने के लिए महिला थाना में आवेदन दिया है और इस घटना से सारण के जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन समेत अन्य अधिकारियों को अवगत करा दिया है ।

ऐसे हुआ मामले का खुलासा
इस मामले का खुलासा तब हुआ जब छपरा जंक्शन पर खुले चाइल्ड लाइन की महिला कर्मचारी व महिला कांस्टेबल के द्वारा बालिका गृह को सौंपी गयी महिला की काउंसेलिग की गयी । घटना के बारे में पता चला है कि 29 अक्टूबर की रात सात बजे छपरा जंक्शन के बाहरी परिसर में एक महिला संदिग्ध हालत में मिली जिसे आरपीएफ के जवान ने रेलवे सुरक्षा बल पोस्ट पर लाया और चाइल्ड लाइन को सौपने गये । उस समय चाइल्ड लाइन पर तैनात कर्मचारी जयप्रकाश ने यह कहते महिला को नहीं रखा कि उसके पास कोई महिला कर्मचारी नहीं है ।

आरपीएफ पोस्ट पर हुआ घटना

इस पर रेलवे सुरक्षा बल के जवान ने लिखित रूप में एक महिला कांस्टेबल को सरकारी आवास पर ले जाकर सुपुर्द कर दिया लेकिन महिला को कांस्टेबल के आवास पर रखने के बजाय आरपीएफ पोस्ट के उप निरीक्षक कक्ष में बंद कर दिया गया । रात में महिला के साथ आरपीएफ जवान ने महिला के साथ दुष्कर्म किया । सुबह में चाइल्ड लाइन की महिला कर्मचारी व महिला कांस्टेबल जब दुष्कर्म की घटना के बारे मे कहा तो, डंडे से उसकी पिटाई कर चुप करा दिया गया । संजीवनी समाचार डॉटकॉम को जानकारी मिली है कि महिला को जब बालिका गृह को सौंप दिया गया, तब उसने अपनी पूरी आपबीती सुनायी । यह सुन कर बालिका गृह के अधिकारियों के भी होश उङ गये । वह आनन फानन में वरीय अधिकारियों को घटना की सूचना दी । इस तुरंत कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया । बालिका गृह के अधिकारियों ने महिला की मेडिकल जांच कराया ।

महिला थाना में गया मामला
अब मामला महिला थाना को सौंप दिया गया है । इधर इसकी जानकारी जब रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों को हुई तो, आनन फानन में जांच का आदेश दिया गया । घटना के बारे में पीङिता ने बालिका गृह के कांउसेलर को बताया कि वह सीवान जिले के के नौतन थाना क्षेत्र में उसका मायके है और गोपालगंज जिले के फुलवरिया थाना क्षेत्र में 3 मार्च 2018 को शादी हुई लेकिन वह नाबालिग है और उम्र करीब 17 वर्ष है । शादी के बाद बीमार रहने लगी जिसके कारण ठीक से काम नहीं करती थी तो, उसके साथ मारपीट की जाने लगी । इस वजह से वह अपने मायके आ गयी लेकिन आर्थिक तंगी के शिकार माता पिता भी प्रताड़ित करने लगे जिसके कारण वह अपनी बहन के यहां जाकर गोपालगंज रहने लगी । 29 अक्टूबर को वह गोपालगंज से दिल्ली के लिए चली । वह अपने भाई से मिलने दिल्ली जा रही थी ।संजीवनी समाचार के जानकारी के अनुसार सीवान स्टेशन पर जब वह पहुंची तो, उसका एक चचेरा भाई मिला । चचेरा भाई उसे अपने डेरा पर छपरा लाया । यहां डेरा पर रख कर वह बाजार चला गया । शाम को लौटा तो, वह शराब के नशे में धुत था, जिसके कारण वह भागकर छपरा जंक्शन पर आ गयी । उसका चचेरा भाई उसे ढूंढते हुए छपरा जंक्शन पर पहुंच गया । स्टेशन के बाहर ही चचेरा भाई उसे डेरा पर चलने की जिद करने लगा । इस पर विवाद हो गया और वहां भीड़ जमा हो गयी । भीड़ देखकर आरपीएफ के जवान पहुंच गये । आरपीएफ जवानों को देख कर उसका चचेरा भाई भाग गया । लेकिन उसे आरपीएफ जवान ने पकड़ लिया और आरपीएफ पोस्ट पर लाया । पोस्ट पर उसने छोङने के आग्रह की तो, उसे छोड़ दिया गया लेकिन पुनः उसी समय पकङ लिया गया और चाइल्ड लाइन को सौपने ले जाया । चाइल्ड लाइन के कर्मचारी ने नहीं रखा तो, उसे आरपीएफ की महिला कांस्टेबल को लिखित रूप में सुपुर्द करने के लिए सरकारी आवास पर ले जाया गया लेकिन वहां नहीं रख कर उप निरीक्षक कक्ष में बंद कर दिया जिसके बाद आरपीएफ जवान ने उसकी अस्मत लूट लिया ।

आइजी ने कहा – बख्शे नहीं जायेंगे दोषी

इस मामले में रेलवे सुरक्षा बल के आइजी राजाराम ने बताया कि इस मामले में जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आदेश दे दिया गया है । संजीवनी समाचार डॉटकॉम कहा कि इस मामले में दोषियों को बख्शा नहीं जायेगा ।

कमांडेंट ने कहा : जाँच रिपोर्ट मिल गयी है

इस मामले में पूछे जाने पर रेलवे सुरक्षा बल के मंडल सुरक्षा आयुक्त ऋषि पांडेय ने संजीवनी समाचार डॉटकॉम से बताया कि जांच रिपोर्ट मिल गया है और इस मामले में आज ही कार्रवाई की जायेगी ।

रेल एसपी को पता नहीं

रेल पुलिस अधीक्षक संजय कुमार सिंह से पूछे जाने पर कहा कि इस मामले में उन्हें कोई सूचना या शिकायत नहीं मिली है ।

बोले एसपी: इस मामले की जाँच चल रही है

इस मामले में सारण के पुलिस अधीक्षक हरकिशोर राय ने संजीवनी समाचार डॉट कॉम से बताया कि इस मामले में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है और पुलिस इसकी जांच कर रही है । जल्द ही दोषियों को गिरफ्तार किया जायेगा ।

Ganpat Aryan

Web Media Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Close
error: Content is protected !!