शिवहर-मधुबनी में हालात खराब, मुजफ्फरपुर के निचले इलाकों में फैला बाढ़ का पानी, कई जगह सड़कें बही

Spread the love

मुजफ्फरपुर: बागमती, लखनदेई, गंडक, बूढ़ी गंडक के साथ कमला बलान के जलस्तर में वृद्धि से मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, शिवहर के साथ ही मधुबनी व दरभंगा जिले में भी बाढ़ की स्थिति भयावह हाेती जा रही है। बागमती और लालबकेया नदी के जलस्तर में वृद्धि से कई और प्रखंडाें में बाढ़ का पानी घुस गया है। शिवहर जिला मुख्यालय से बाढ़ का पानी तीसरे दिन भी नहीं निकला है।

मधुबनी में भी स्थिति गंभीर बनी हुई है। वहीं, साेमवार सुबह आधा मीटर की कमी के बाद भी बागमती नदी मुजफ्फरपुर के कटाैझा में खतरे के निशान से 3.67 मीटर ऊपर बह रही है। इसके जलस्तर में दाेपहर बाद से फिर वृद्धि शुरू हाे गई। कटरा प्रखंड मुख्यालय का सड़क संपर्क बाधित है। यहां की चार पंचायतें बाढ़ से पूरी तरह घिर चुकी हैं। बेनीबाद-कटरा-औराई पथ पर चार से पांच फीट पानी बह रहा है। बूढ़ी गंडक का पानी मुजफ्फरपुर शहर के निचले इलाके में तेजी से फैल रहा है। इससे हालात और बिगड़ गए हैं।

वाल्मीकिनगर बराज से गंडक में 1.94 लाख क्यूसेक पानी डिस्चार्ज

वाल्मीकिनगर बराज से गंडक में एक लाख 94 हजार 800 क्यूसेक पानी छाेड़े जाने से गंडक नदी के जलस्तर में वृद्धि हुई है। बूढ़ी गंडक नदी के जलस्तर में सिकंदरपुर में एक मीटर की तेजी से वृद्धि के बाद भी जलस्तर अभी खतरे के निशान से 1.89 मीटर नीचे है। बाढ़ प्रभावित गांवाें से तेजी से विस्थापित हाेकर लाेग सुरक्षित आशियाने की तलाश कर रहे हैं। एनडीअारएफ की टीम अाैराई, कटरा व गायघाट के प्रभाविताें काे सुरक्षित निकालने में जुटी हुई है।

सुपाैल में कोसी का पानी घटने से पांच प्रखंड के 130 गांवों में कटाव तेज

सुपौल : साेमवार काे बारिश नहीं हाेने से कोसी के डिस्चार्ज में कमी लेकिन पानी घटने से सुपाैल के 5 प्रखंडों के 130 गांवों में कटाव तेज। नदी के जलस्तर में बीते 24 घंटे में करीब 3 फीट की गिरावट। 
अररिया : हालात अब भी सामान्य नहीं। जीरोमाइल मार्ग में सिसौना के निकट रोड पर पानी बहने से आवागमन ठप। 
कटिहार : आजमनगर और कदवा प्रखंड पूरी तरह बाढ़ की चपेट में। जिला मुख्यालय से 12 पंचायतों का संपर्क पूरी तरह कटा। 
मुजफ्फरपुर : औराई में बांध के अंदर बसे गांव पूरी तरह डूबे।

ये नदियां खतरे के निशान से पार
{बागमती-सीतामढ़ी के ढेंग व डुब्बाधार में 
{कमला बलान- मधुबनी के जयनगर व झंझारपुर में {ललबकेया-पूर्वी चंपारण में, 
{अधवारा समूह-सीतामढ़ी के सोनबरसा में 
{महानंदा-पूर्णिया व कटिहार में।

12 जिलों की 546 पंचायतों की 25.66 लाख आबादी प्रभावित

जिले 12
प्रखंड 77
पंचायतें 546
जनसंख्या 25.66 लाख
राहत शिविर 196
प्रभावितों की संख्या 1,06,953
सामुदायिक रसोई 644
मृतकों की संख्या 24

एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की 25 टीमों की तैनाती

बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में बहाल करें सड़क संपर्क : नीतीश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत व बचाव कार्य तेजी लाने के लिए सड़क संपर्क बहाल करने का आदेश दिया है। सोमवार को सीएम ने अररिया, किशनगंज व कटिहार के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे किया। हालात का जायजा लेने के बाद ग्रामीण कार्य विभाग व पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिवों को सड़क संपर्क बहाल करने का आदेश दिया। कटावग्रस्त इलाकों का जायजा लेने के लिए दोनों अफसरों को भी हवाई सर्वे करने के लिए भेजा जाएगा। मुख्यमंत्री मंगलवार को विधानमंडल को बाढ़ की स्थिति और राहत-बचाव की जानकारी देंगे।

Ganpat Aryan

Ganpat Aryan

Multimedia Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!