सारण के गड़खा में पानी के लिए मचा हहाकार, ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

Spread the love

छपरा । जिले के गङखा प्रखंड की जलाल वसंत पंचायत भवन के समक्ष सैकड़ों ग्रामीणों ने वार्ड सदस्य एवं जिला प्रशासन के खिलाफ बुधवार को प्रदर्शन कर किया। प्रदर्शनकारियों ने वार्ड सदस्य की मनमानी का जमकर विरोध किया और नल-जल सहित अन्य विकास कार्यों में अनियमितता बरतने का आरोप लगाया । ग्रामीणों ने कहा कि जलाल बसंत पंचायत अंतर्गत आने वाले वार्ड नंबर -15 में वार्ड सदस्य सविता देवी एवं उनके पति की मनमानी, भ्रष्टाचार के कारण इस वार्ड क्षेत्र का नल-जल योजना सहित अन्य विकास कार्य पूरी तरह बाधित है।

चापाकल से पानी नहीं निकलने से आम से खास तक सभी को पीने के पानी के लिए दर-दर भटकने को मजबूर हैं। प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं अन्य अधिकारियों को बार-बार लिखने कहने के बावजूद भी समस्या का समाधान नहीं होने के कारण आज ग्रामीणों का आक्रोश है। वार्ड सदस्या, प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं जिला प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन कर जमकर नारेबाजी किया। छात्र नेता राहुल कुमार यादव व अन्य ग्रामीणों ने बताया कि वार्ड सदस्या सविता देवी एवं उसके पति सच्चितानंद के द्वारा की जा रही मनमानी, भ्रष्टाचार के कारण नल – जल सहित अन्य योजनाओं का विकास कार्य पूरी तरह बाधित है। उन्होनें कहा कि वार्ड सदस्य की मनमानी का आलम यह है कि पहले उन्होंने बगैर आम सभा, बगैर जनता को जानकारी दिए, वार्ड सचिव का चुनाव कर लिया और पंचायत सचिव के साथ मिलीभगत कर खाता भी खुलवा दिया गया।

आम जनता को जब इसकी जानकारी हुई इस पर शिकायत की गयी, जिसके बाद किए गए सचिव का चुनाव रद्द कर दिया गया। फिर वार्ड सदस्या को बार-बार कहने, प्रखंड विकास पदाधिकारी को बार-बार लिखने कहने के बाद वार्ड सभा कराई गई और सर्वसम्मति से नये वार्ड क्रियान्वयन समिति का गठन कर नये सचिव का चुनाव किया गया,फिर से वार्ड सदस्य एवं वार्ड सचिव का संयुक्त खाता खुला। वार्ड का सर्वेक्षण होने के बाद पंचायत के मुखिया के द्वारा पैसे भी डाल दिए गए। अब जब वार्ड का विकास कार्य (नल-जल) कराने की बारी आई, वार्ड सदस्या ने उप मुखिया एवं अन्य लोगों के बहकावे में आकर वार्ड क्रियान्वयन समिति, (वार्ड सचिव ) पर गलत कार्य किए जाने को लेकर दबाव बनाया जाने लगा, नल-जल का कार्य किसी खास ठेकेदार को दिए जाने को कहने लगीं। इसके बाद वार्ड सदस्य-15 बोली अगर नल-जल कार्य की ठेकेदारी मेरे चहेते व्यक्ति को नहीं दिया गया तो, मैं इस्तीफा दे दूंगी। हमारे संयुक्त खाता में पैसा आ जाने के बाद शायद वार्ड सदस्या ने इस्तीफा दे दिया है, जिससे हमारे वार्ड न-15 का विकासात्मक कार्य पूरी तरह बाधित है। मौजूद लोगों की मांग थी कि प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं जिला प्रशासन वार्ड अध्यक्ष के इस्तीफा दे देने के बाद वार्ड उपाध्यक्ष एवं चुनी गई वार्ड क्रियान्वयन समिति के साथ मिलकर नल-जल सहित अन्य वार्ड का विकासात्मक कार्य कराए जाने के लिए अधिकृत किया जाए, ताकि वार्ड का विकासात्मक कार्य सुचारू ढंग से चल सके एवं पानी के लिए इधर-उधर भटकने को मजबूर आम ग्रामीण जनता को ससमय पानी मिलना सुनिश्चित हो सके। प्रदर्शन में वार्ड क्रियान्वयन समिति के सभी सदस्य सहित, राहुल कुमार, ब्रह्मदेव राय, अशोक राय, लक्ष्मन राय, संजीव पांडेय, श्रीभगवान राय, बुधन राय, वकिल राय, मनोज राय, बहारन राय, सुनिता देवी, राधा देवी, कान्ति देवी, विश्वजीत कुमार, अजय कुमार, हरेराम कुमार, ऋषि नाथ कुमार , विकास कुमार, अतुल कुमार, सचिन, विशाल, संतोष आदि सैकडो़ ग्रामीण जनता मौजूद थे।

Ganpat Aryan

Ganpat Aryan

Multimedia Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!