सोनपुर मेला में आने वाले नौनिहालों को पिलाई जायेगी ‘दो बूंद जिंदगी की’

इस समाचार को शेयर करें

कार्यपालक निदेशक ने सारण व वैशाली के सीएस को दिया निर्देश
13 दिनों तक चलेगा पोलियो अभियान
शून्य से 5 वर्ष तक के बच्चों को पिलायी जायेगी दवा
स्वास्थ्य विभाग ने टीम का किया गठन
छपरा । विश्व प्रसिद्ध हरिक्षेत्र सोनपुर मेला में आने वाले नौनिहालों को पोलियो की दवा पिलायी जायेगी। इसको लेकर राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने सारण व वैशाली के सिविल सर्जन को निर्देश जारी किया है। उन्होने ने निर्देश दिया है कि सोनपुर मेले में विशेष अभियान चलाकर पोलिया की दवा पिलाना सुनिश्चित करेंगे। जारी पत्र में कहा गया है कि सोनपुर मेला में विभिन्न क्षेत्रों से लोगों का आवागमन होता है जिससे राज्य में पोलियो वायर के संक्रमण की संभावना रहती है। अत: आवश्यक है कि इस मेले में आने वाले बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई जाये।

13 दिनों तक चलेगा अभियान:

यूनिसेफ के जिला समन्वयक आरती त्रिपाठी ने बताया कि यह विशेष अभियान 11 नंवबर से 24 नंवबर तक चलेगा। सोनपुर मेला क्षेत्र में 11 से 24 नवंबर तक व वैशाली शहरी क्षेत्र 11 से 12 नवंबर तक यह अभियान चलेगा। इस दौरान मेले में अलग-अलग जिलों व प्रदेशों से आये बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई जायेगी।

35 टीम करेगी काम:

डीआईओ डॉ. वीके चौधरी ने बताया कि सोनपुर मेला में विशेष अभियान चलाया जायेगा। इसके लिए पूरी तैयारी कर ली गयी है। टीम का भी गठन किया गया है। पूरे मेला क्षेत्र में 35 टीम को लगाया गया है। प्रत्येक टीम को अलग-अलग स्थानों जैसे- रेलवे स्टेशन, बस स्टॉप, गंगा किनारे, विश्राम स्थल पर जाकर पोलियो की दवा पिलाने का निर्देश दिया गया है। वहीं इसकी मॉनिटरिंग के लिए जिलास्तर पर भी टीम का गठन किया गया। मॉनिटरिंग टीम लगातार मेला क्षेत्र का दौरा कर पोलियो अभियान की जांच करेगी।

बैनर पोस्टर के माध्यम से जागरूकता:

मेला क्षेत्र में स्वास्थ्य विभाग की ओर जगह-जगह बैनर पोस्टर लगाया गया है। जिससे लोगों को मेला में आये बच्चों को पोलियो की दवा पिलाये जाने की ख़बर मिल सके। अधिक से अधिक बच्चों को प्रतिरक्षित करने के उद्देश्य से व्यापक स्तर पर जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है। ज्यादा भीड़ वाले स्थानों पर हॉर्डिंग बैनर लगाये गये हैं।

क्या कहते हैं सिविल सर्जन:

विभाग से प्राप्त निर्देश के आलोक में सोनपुर मेला में विशेष कैंप लगाया जायेगा। जिसमें आने वाले बच्चों को पोलिया की दवा पिलायी जायेगी। इसके लिए टीम का गठन कर लिया गया है।
डॉ. माधवेश्वर झा, सिविल सर्जन सारण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!