पांच साल तक के बच्चों को पिलायी जायेगी विटामिन “ए” की ख़ुराक, सीएस ने की समीक्षा बैठक

Spread the love

– 17 जुलाई से 20 जुलाई तक जिले में चलेगा अभियान

छपरा। जिले में 9 माह से 5 साल तक के बच्चों को छःमाही विटामिन ए की दवा पिलाने का अभियान 17 से 20 जुलाई तक चलेगा । इस अभियान की तैयारी की समीक्षा सिविल सर्जन डा माधवेश्वर झा ने मंगलवार को अपने कार्यालय कक्ष में बैठक आयोजित कर की । सिविल सर्जन ने कहा कि अभियान की सफलता के लिए जिला, प्रखंड एवं ग्रामीण स्तर पर विभिन्न गतिविधियां आयोजित किये जाएंगे। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम के बेहतर क्रियान्वयन के लिए ग्राम एवं शहरी क्षेत्र का माइक्रो प्लान बनाया गया है । सभी आशा कार्यकर्ताओं , आंगनवाड़ी केन्द्रों की सेविका सहायिका को लगाया जायेगा । सभी टोला एवं वार्ड में आशा कार्यकर्ताओं को अपने क्षेत्र की 9 माह से 5 साल तक के कुल लक्षित बच्चों को शत-प्रतिशत ख़ुराक पिलाने में मदद करने का निर्देश दिया गया है । जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डा वीरेन्द्र कुमार चौधरी ने माइक्रोप्लान की चर्चा करते हुए कहा कि आंगनवाड़ी केंद्र, गांव, स्वास्थ्य उप-केंद्र एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर दवा पिलाने की व्यवस्था की गयी है । उन्होंने कहा कि माइक्रोप्लान तथा एक्शन प्लान सभी प्रखंडों में भेजा जा चुका है और दवा भी उपलब्ध करायी गयी है । आंगनवाड़ी केन्द्रों के परिसीमन के कारण बगल में केंद्र के रहने पर भी बच्चे दवा केंद्र तक नहीं पहुंच पाते हैं, लेकिन इस बार इस कमी को दूर करते हुए अतिरिक्त केंद्र बनाया गया है, जहां परिसीमन के कारण बच्चें इस खुराक से वंचित हो जाते हैं । उन्होंने बताया कि विटामिन ए बच्चों के आंखों के लिए जरुरी होता है। इसकी कमी से बच्चों में रतौंधी रोग होता है, जिसमें बच्चों को रात में दिखाई देना बंद हो जाता है। इसके अलावा इसकी कमी से संक्रमण में वृद्धि एवं त्वचा का रूखापन भी शामिल है।

घर-घर जाकर भी पिलाई जाएगी दवा

आशा एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा 18 से 20 जुलाई के बीच माइक्रोप्लान के अनुरूप गांव के प्रत्येक घर में जाकर 9 माह से 5 साल तक के बच्चों को विटामिन ए की ख़ुराक पिलाई जाएगी। जबकि 17 जुलाई को स्वास्थ्य उपकेंद्रों, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों एवं अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर एएनएम आशाओं के साथ मिलकर लक्षित बच्चों को विटामिन ए की ख़ुराक पिलाएंगी एवं आंगनवाड़ी केन्द्रों पर आशा एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा बच्चों को ख़ुराक पिलाई जाएगी। उन्होंने बेहतर मॉनिटरिंग एवं रिपोर्टिंग पर बल दिया । इसके लिए जिला स्तर से सिविल सर्जन, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी, जिला कार्यक्रम प्रबंधक एवं जिला सामुदायिक उत्प्रेरक एवं प्रखंड स्तर से प्रभारी चिकित्साधिकारी, प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक एवं प्रखंड सामुदायिक उत्प्रेरक अभियान की मॉनिटरिंग करेंगे। कार्यक्रम समाप्ति के बाद मॉनिटरिंग रिपोर्ट जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी को भेजने का निर्देश दिया गया । जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी राज्य स्वास्थ्य समिति को यह रिपोर्ट 28 जुलाई तक भेजेंगे। बैठक में डब्ल्यू एच ओ के डा रंजितेश कुमार, अमित कुमार, डीपीएम धीरज कुमार, जिला अनुश्रवण सह मूल्यांकन पदाधिकारी भानू शर्मा आदि ने भाग लिया ।

Ganpat Aryan

Ganpat Aryan

Multimedia Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!