मुजफ्फरपुर में 124 बच्चे चमकी बुखार से आक्रांत, 30 मासूम बच्चों की मौत

Spread the love

चमकी – बुखार से पीड़ित बच्चों की इलाज़ बरती गई लापरवाही बर्दाश्त नही की जाएगी : जिलाधिकारी

मुज़फ्फरपुर । चमकी बुखार की कहर को देखते हुए जिलाधिकारी आलोक रंजन घोष द्वारा समाहरणालय के सभागार में आयोजित स्वास्थ्य बिभाग के अधिकारियों की बैठक में अल्टीमेटम दिया गया कि बच्चों की इलाज़ में किसी भी तरह की लापरवही बर्दाश्त नही की जाएगी। लापरवाही बरतने वालो के खिलाफ के खिलाफ कार्यवायी की जाएगी।

उन्होंने एक तरफ जहां इलाज़ के लिए चिकित्सको को ततपर रहने को कहा वही दुसरीं ओर ग्राउंड लेवल पर इस बीमारी से बचाव हेतु आम नागरिकों को जागरूक करने का आदेश दिया है जिसमे सभी आंगनवाड़ी सेविकाओं, आशा और एएनएम को शामिल करने का भी निर्देश दिया गया।

जिलाधिकारी ने स्पष्ट लहज़े में कहा कि इस घडी में किसी भी तरह की किसी भी स्तर पर की गई लापरवाही बर्दाश्त नही किया जाएगा। उन्होंने आज की रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए बताया कि 124 संभावित एईएस की 124 केस सामने आया है जिसमे से कुल 30 बच्चो की मौत इलाज़ के दौरान हुआ है जिनमे 07 बच्चो की मौत के डी के एम में तथा 23 बच्चों की मौत एस के एम सी एच में हुई है।उन्होंने कहा कि खास कर ज़िला के मुशहरी प्रखंड इस बीमारी केस आया है जिसमे से आठ बच्चो की मौत हो चुकी है। इस बैठक में मौजूद सी एस डॉ0 एस पी सिंह ने इस बीमारी की बच्चो पर लक्षण दिखाई देते ही तत्काल पास के अस्प्ताल में ले जाने कि लोगों से अपील की गई है।इस बैठक में उपविकास आयुक्त उज्ज्वल कुमार सिंह, ज़िला जन सम्पर्क पदाधिकारी कमल सिंह ,सभी प्रखंडों के चिकित्सा पाधिकारी आदि मौजूद थे।

Ganpat Aryan

Ganpat Aryan

Multimedia Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!