बिहार सरकार का फैसला, अब पटना में CNG से चलेंगी गाड़ियां

Spread the love

पटना। दिल्ली के तर्ज पर पटना में भी सीएनजी से गाड़ियों को चलाने का फैसला लिया गया है। नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई बिहार कैबिनेट की बैठक में इस निर्णय को लिया गया है। पटना में बढ़ते प्रदूषण को कम करने के मकसद से इसे लागू किया जाएगा। देश के टॉप पांच प्रदूषित शहरों में पटना भी शामिल है। बिहार सरकार ने फुलवारी में ( CNG) सीएनजी प्लांट लगाने का फैसला किया है, गैल कंपनी सीएनजी के प्लांट का निर्माण करेगी, जिसके लिए जमीन का आवंटन कर दिया गया है।

फुलवारी शरीफ में गैल बनाएगी सीएनजी स्टेशन ,प्रस्ताव मंजूर

बिहार कैबिनेट की बैठक में बिहार राज्य पथ परिवहन निगम की फुलवारी शरीफ में केंद्रीय कर्मशाला में गैल द्वारा सीएनजी स्टेशन निर्माण के लिए 46.49 करोड़ की लागत से 1.5 एकड़ जमीन देने के प्रस्ताव को मंजूर कर लिया गया।

क्या है सीएनजी?

गाड़ियों में ईंधन के तौर पर प्राकृतिक गैस के इस्तेमाल का विचार सबसे पहले 1930 में आया. पर्यावरण के प्रदूषण को ध्यान में रखते हुए जल्द ही ये ज़रूरी भी हो गया. कई अनुसंधान के बाद तकनीकी विशेषज्ञों ने इस गैस का इस्तेमाल सघन प्राकृतिक गैस (सीएनजी) के तौर पर गाड़ियों में करने का सुझाव दिया. यूरोप के कई देशों, अमरीका, ऑस्ट्रेलिया, और न्यूज़ीलैंड के अलावा थाईलैंड और ईरान में सीएनजी का इस्तेमाल गाड़ियों में ईंधन के रूप में किया जाने लगा.

सीएनजी के फ़ायदे

यह इंजन की क्षमता बढ़ाता है और इंजन साफ रखता है. इसमें एक बार लागत के बाद फिर ज़्यादा ख़र्च नहीं होता. इसके ज़्यादा इस्तेमाल से पेट्रोलियम का बोझ कम होता है. इससे गाड़ियों से निकलने वाले धुएं की वजह से प्रदूषण नहीं होता.

Ganpat Aryan

Web Media Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!