भिखारी ठाकुर के गांव को हेरिटेज के रूप में किया जायेगा विकसित, कल्पना पटवारी ने दिया 2 लाख का चेक

Spread the love

छपरा। भोजपुरी के सेक्शपियर भिखारी ठाकुर के पैतृक गांव कुतुबपुर दियारा को हेरिटेज के रूप में विकसित किया जायेगा। भोजपुर की लोग गायिका कल्‍पना पटवारी की ओर से भिखारी ठाकुर आश्रम कुतुबपुर के जीर्णोद्धार के लिए दो लाख का चेक भी प्रदान किया गया। ताकि भिखारी ठाकुर के कुतुबपुर आश्रम को एक हेरिटेज के रूप में विकसित कर वर्तमान व आने वाली पीढियों को उनसे जानने–सीखने का मौका मिल सके। इस अवसर पर कल्पना पटवारी ने कहा कि आज जरूरत है उनकी विरासत को संवारने – संभालने की, जिसके प्रति सरकार सजग है। साथ ही पार्श्‍व गायिका कल्‍पना पटवारी का इस दिशा में किया गया काम सरहानीय है। वहीं, कल्‍पना ने कहा कि जिस भोजपुरी को भिखारी ठाकुर जैसे कलाकारों ने अंतर्राष्‍ट्रीय पहचान दिलाई, उसी भोजपुरी को अपने ही राज्‍य में बोली से भाषा बनने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है। भिखारी ठाकुर के बगैर भोजपुरी की बात बेइमानी होगी। भोजपुरी और भिखारी ठाकुर का संबंध चोली–दामन का है। महा पंडित राहुल सांस्‍कृत्‍यायन ने भिखारी ठाकुर को शेक्‍सपीयर तक कह दिया था। कल्‍पना ने कहा कि भिखारी ठाकुर को शेक्‍सपीयर तो कहा जाता है, लेकिन क्‍या हम सही मायनों में उन्‍हें शेक्‍सपीयर का सम्‍मान दे पा रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि जब तक भोजपुरी को पूर्ण भाषा का दर्जा नहीं मिल जाता, तब तक हम भिखारी ठाकुर को श्रद्धांजलि नहीं दे पायेंगे।

भिखारी ठाकुर पर बनी ‘द लगेसी ऑफ भिखारी ठाकुर – 2’ का हुआ विमोचन
इससे पहले कल्‍पना ने अपनी अलबम ‘द लगेसी ऑफ भिखारी ठाकुर – 2’ के बारे में बताया कि इस अलबम में कुल 11 गाने हैं, जिनमें 10 गाने को लिविंग लीजेंड 109 वर्षीय रामाग्या राम की आवाज में है, जो अपने आप में एक विश्व रिकॉर्ड है। 109 वर्ष की उम्र में आज तक किसी के गाने की रिकॉर्ड नहीं किये गए। वहीं, एक गीत कल्‍पना कटवारी की आवाज में है।

मंत्री ने किया एलबम का विमोचन
‘द लगेसी ऑफ भिखारी ठाकुर – 2’ के विमोचन के अवसर पर भाजपा कला संस्‍कृति प्रकोष्‍ठ की सांस्‍कृतिक संध्‍या पर कल्‍पना पटवारी और 109 वर्षीय रामाग्‍या राय ने भिखारी ठाकुर के गीतों पर एक से बढ़कर एक प्रस्‍तुति दी। इस दौरान विद्यापति भवन तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। उनके साथ सत्‍येंद्र कुमार संगीत और रानी सिंह ने भी भिखारी ठाकुर की प्रस्‍तुति दी। इस दौरान साजिंदों में तबला पर अजंनी सिंह, ढोलक पर दिवाकर मिश्र, आर्गन पर नीरज सिंह, बैंजो पर पवन कुमार, झाल एवं प्राक्‍सन पर धर्मेंद्र कुमार बाग ने लोगों को झूमने पर विवश कर दिया। मंच संचालन संयुक्‍त रूप से शैलेश कुमार और इशु कुमारी ने किया।

कार्यक्रम में कला संस्‍कृति प्रकोष्‍ठ के प्रदेश संयोजक वरूण कुमार सिंह, सह संयोजक आनंद पाठक, विनिता मिश्रा, बरूण सिंह, नीरज दुबे, वीरेंद्र चंद्रवंशी, धर्मेंद्र सिंह समाज, धीरज सिंह पीआरओ रंजन सिन्‍हा समेत कई लोग मौजूद रहे। धन्‍यवाद ज्ञापन आनंद पाठक ने किया।

Ganpat Aryan

Web Media Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!