यक्ष्मा मरीजो को अस्पताल पहुंचाने वालों को मिलेगा 500 रूपये

Spread the love

छपरा। समाज सेवा करने वालों के लिए एक अच्छी खबर है। बिना किसी नौकरी और झमेले के स्वास्थ्य विभाग ने रुपए कमाने का एक बेहतर अवसर उपलब्ध कराने की घोषणा शनिवार को की । अवसर था सारण जिले को यक्ष्मा मुक्त बनाने के कार्यक्रम के शुभारंभ का । एकता भवन में आयोजित कार्यक्रम में भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अवर सचिव सह महानिदेशक संजीव कुमार ने कहा कि यक्ष्मा के खात्मा करने के लिए जिले में यक्ष्मा उन्मूलन पायलट प्रोजेक्ट लागू किया गया है। इस योजना के तहत यक्ष्मा का पूरी तरह उन्मूलन करने का लक्ष्य रखा गया है, जिसे वर्ष 2025 तक पूरा किया जायेगा। इसके लिए मरीजों को निःशुल्क जांच व निःशुल्क दवा देने के साथ साथ उन्हें प्रति माह 500 रूपये का पोषण भत्ता भी दिया जायेगा। जब तक मरीजों का उपचार जारी रहेगा, उन्हें प्रतिमाह 500 रूपये सरकार की ओर से उनके खाते में उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि किसी भी गांव, मोहल्ले, टोले में अगर कोई यक्ष्मा का मरीज है तो, उसे सरकारी अस्पताल तक पहुंचाने वाले व्यक्ति को 500 की प्रोत्साहन राशि एक मुश्त दी जाएगी। उन्होंने कहा कि किसी मरीज की सेवा तथा सहायता करना पुण्य का काम है और इस पुण्य का काम करने वाले व्यक्ति को सरकार की ओर से एकमुश्त 500 सहायता राशि दी जाएगी। इसके लिए उन्हें किसी तरह की नौकरी या नियोजन की जरूरत नहीं है, फिर भी प्रोत्साहन राशि दी जायेगी।

Ganpat Aryan

Web Media Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!