सदर अस्पताल में 15 दिनों लीकेज है ऑक्सीजन पाइप, अब तक 100 से अधिक सिलेंडर की खपत

Spread the love

छपरा।जरा सोचिये! जिस ऑक्सीजन की कमी से कईयों की मौत हो जाती है वहीं प्राणवायु आज सिस्टम की लापरवाही के कारण हर रोज पांच सिलेंडर बर्बाद चला जा रहा है। छपरा सदर अस्पताल में 15 दिनों से ऑक्सीजन पाइप लीकेज है। जिससे मात्र एक घंटे में एक ऑक्सीजन सिलेंडर खत्म हो जा रहा है। ऐसे में पांच के जगह दस सिलेंडर की खपट हो रही है यानी पांच सिलेंडर औसतन हर रोज बर्बाद चला जा रहा है। अब तक 15 दिनों में अनुमानत: 100 से अधिक सिलेंडर व्यवस्था में लीक होने की वजह से बर्बाद चला गया है। हुआ यू है कि ऑक्सीजन प्लांट के पाइप में लीकेज होने लगा है। इस पर समय रहते ध्यान नहीं दिया गया तो कभी भी बड़ी घटना हो सकती है। मुख्य सिलेंडर में भारी दबाव के बीच ऑक्सीजन रखने के चलते इसे ज्यादा संवेदनशील भी बताया जा रहा है।ओपीडी के समय पर यहां मरीजों के साथ परिजनों की खासी भीड़ रहती है। इस दौरान लीकेज बढ़ने से सिलेंडर फट गया तो इसके गंभीर परिणाम सामने आ सकते हैं। कर्मचारियों ने इसकी जानकारी प्रबंधन को भी दी है। इसके लिए प्रबंधन ने इंजीनियरों से संपर्क किया है, लेकिन अभी तक मरम्मत कार्य पूरा नहीं किया जा सका है।

एक घंटे में खत्म हो रहा है एक सिलेंडर
सदर अस्पताल के इमरजेंसी में लगे ऑक्सीजन पाइप लाइन में लीकेज की वजह से एक ऑक्सीजन सिलेंडर मात्र एक घंटे में खत्म हो जा रहा है। अस्पताल के कर्मियों ने बताया एक बड़ा वाला सिलेंडर दिन भर चलता था। लेकिन लीकेज की वजह से मात्र एक घंटे में हीं खत्म हो जा रहा है। जिससे कभी बड़ी घटना होती है तो आक्सीजन की कमी हो सकती है। 

15 दिनों से लीकेज है ऑक्सीजन पाइप लाइन
सदर अस्पताल में लगे ऑक्सीजन प्लांट के पाइप लाइन में करीब 15 दिनों से लीकेज है। जिसको लेकर अस्पताल प्रबंधक ने विभाग लिखित सूचना भी दिया है। लीकेज पाइप लाइन की जांच के लिए एक इंजीनियर आया था। लेकिन समान नहीं मिलने के कारण मरम्मती नहीं हो सकी। कोकलकता से समान मंगवाया गया है। 

इंजीनियर ने किया जांच, कोलकता से मंगाया गया समान
ऑक्सीजन पाइप लाइन में लीकेज होने पर अस्पताल प्रशासन ने इसकी सूचना इंजीनियर को दी। जिसके बाद इंजीनियर ने पाइप लाइन की जांच की। जांच में गड़बड़ी पायी गयी। लेकिन उसका समान यहां नहीं मिल पा रहा है। समान कोलकता से मंगाया गया है। समान आते लीकेज की समस्या को दूर कर लिया जायेगा।

क्या कहते हैं अस्पताल प्रबंधक
ऑक्सीजन प्लांट की पाइपलाइन में लीकेज की समस्या है। इसकी मरम्मत के लिए इंजीनियरों से संपर्क किया गया है। जल्द ही सुधार कर ली जाएगी।
राजेश्वर प्रसाद, अस्पताल प्रबंधक, सदर अस्पताल छपरा

क्या कहते उपाधीक्षक
इमरजेंसी वार्ड में लगे ऑक्सीजन प्लांट के पाइप लाइन में लीकेज की समस्या है। लेकिन ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है। वैकल्पिक व्यवस्था से काम चल रहा है। इंजीनियर से बात हुई है । जल्दी हीं ठीक कर लिया जायेगा। 
डॉ. शंभूनाथ सिंह, उपाधीक्षक, सदर अस्पताल छपरा

Ganpat Aryan

Web Media Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!